Chhattisgarh Jagdalpur

अपने अस्तित्व को बचाने महीने भर में नक्सलियों ने 20 वाहन फूंकें

जगदलपुर। अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे नक्सलियों ने दक्षिण और पश्चिम बस्तर में जमकर उत्पात मचाया है। वे निर्माण कार्यों में लगे वाहन व मशीनों सहित यात्री बसों को भी फूंक रहे हैं। बीजापुर से गंगालूर तक बनी सीसी सड़क के चौड़ीकरण में लगे वाहनों को नक्सलियों ने बुधवार को जला दिया।
पुलिस का दावा है कि विकास कार्यों को पूरी सुरक्षा दी जा रही है, जिससे नक्सली बौखला गए हैं लेकिन पिछले फरवरी और अब मार्च में नक्सलियों के उत्पात को देखें तो यह बात सामने आ रही है कि संवेदनशील क्षेत्र में निर्माण कार्यों के दौरान फोर्स कोई सुरक्षा ही नहीं दे रही है। बीजापुर के पोंजेर नाले के पास नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगी सात गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया। यहां भी कंस्ट्रक्शन कंपनी की गाडिय़ों और कर्मचारियों को कोई सुरक्षा नहीं दी गई थी। आगजनी के बाद जिले के एसपी मोहित गर्ग ने कहा कि ठेकेदार बिना सुरक्षा के सड़क निर्माण कर रहे थे।
हाल ही में सुकमा कोंटा रोड पर नक्सलियों ने हैदराबाद जा रही तीन यात्री बसों सहित तीन ट्रकों को जला दिया था। इसे घटना के तीन दिन पहले ग्रे-हाउंड की कार्रवाई का बदला बताया जा रहा था, लेकिन इससे पहले महीने भर से नक्सली बीजापुर जिले में सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहनों को आग के हवाले किया है। जिले के विभिन्न इलाकों में नक्सलियों ने फरवरी और मार्च महीने में करीब 20 वाहनों को जला दिया है। नक्सलियों ने 5 फरवरी को मोदकपाल थाना क्षेत्र के भट्टीगुड़ा में सड़क निर्माण में लगे 10 वाहनों को नक्सलियों ने जला दिया था। इससे एक दिन पहले भोपालपट्टनम के निकट बारात लेकर जा रही बस से सवारियों को उतार कर बस को आग के हवाले कर दिया था। 5 फरवरी को ही नेलसनार के निकट फुलगट्टा में टिप्पर सहित पानी टैंकर और मिक्सर मशीन को जला दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *