Chhattisgarh Government Raipur

आदिवासी राज्य में आदिवासियों की सबसे ज्यादा तबाही: शरद यादव

रायपुर। पूर्व केंद्रीय मंत्री व जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने आदिवासियों को सबसे ज़्यादा प्रताड़ित बताया है। शरद यादव ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रविवार को एक कार्यक्रम में कहा कि 10 साल से ज्यादा यहां रमन सिंह की सरकार है और सबसे ज्यादा जवान यहीं शहीद हो रहे हैं।

आदिवासियों के पास सबसे ज़्यादा ख़ज़ाना है जिसे लोग हथियाना चाहते हैं, उन्होंने कहा कि  आदिवासियों के पास सबसे ज़्यादा ख़ज़ाना है जिसे लोग हथियाना चाहते हैं। उन्होने कहा कि आदिवासियों की सबसे ज्यादा तबाही छत्तीसगढ़ में हुई है और उसका भी ठिकाना बस्तर है। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ का पानी उद्योग ले जा रहे हैं। पहले यहां आक्सीजन और पानी खूब था लेकिन अब हालत बदल रहे हैं।

बरसे केंद्र सरकार पर

तीन तलाक के मुद्दे पर उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि पहले हिंदू समाज की बुराई दूर करो उसके बाद दूसरी तरफ झांको। उन्होंने चीन का उदाहरण देते हुए कहा कि चीन आगे बढ़ रहा है क्योंकि वहां जातिवाद नहीं है। जबकि जाति ने भारतीय समाज को खंड-खंड करके बांट रखा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने लव जिहाद के नाम पर मोहब्बत पर पहरा लगा दिया है।

हिंदू धर्म में कोई आ नहीं सकता, सिर्फ जा सकता है

उन्होंने कहा कि हिन्दू धर्म में कोई अंदर आ ही नही सकता, केवल जा सकता है। कोई हिन्दू बनना चाहेगा तो किस जाति में शामिल होगा। कोई अपने जाति में शामिल नही होने देगा। शरद यादव ने कहा कि देश को गोली से नहीं बोली से चलाना चाहिए।

सुबह जोगी से मिले शरद

 

इससे पहले आज सुबह राज्य सभा सदस्य और जदयू नेता शरद यादव सागौन बंगला पहुंचे। यहां अजीत जोगी से उन्होंने सौजन्य मुलाकात की। जदयू नेता शरद यादव और अजीत जोगी की मुलाकात के दौरान अमित जोगी भी मौजूद थे। तीनों के बीच बंद कमरे में राष्ट्रीय स्तर पर राजनीतिक हालत पर चर्चा हुई। चाय का भी दौर चला। इस मुलाकात पर जब शरद यादव से पूछा गया कि तो उन्होने कहा कि अगर उन्होंने बातचीत का ब्यौरा दिया तो स्थिति गंभीर हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *