Raipur

सत्ता के गलियारे में पैठ रखने वाले पप्पू पर आईटी का शिकंजा, नप सकते हैं कई मंत्री और अफसर

रायपुर। छत्तीसगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष व शराब कारोबारी बलदेव उर्फ पप्पू भाटिया के घर पडे इंकम टेक्स के छापे में प्राप्त  दस्तावेजों में प्रदेश के कई हाइप्रोफाइल लोगों के नाम और उनसे जुडे दस्तावेज मिले हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार इसमें प्रदेश सरकार के कई मंत्री और कई कद्दावर अधिकारियों के नाम शामिल हैं। आयकर विभाग की जांच की आंच में प्रदेश के कई रसूखदार मंत्री और ताकतवर अधिकारियों के झुलसने की संभावना है। गौरतलब है कि पप्पू भाटिया को प्रदेश के मुखिया का काफी करीबी माना जाता है।

बारीकी से आईटी करे जांच तो नप जाएंगे कई

आईटी की 90 सदस्यीय टीम को छापे के दौरान उनके सिविल लाइंस स्थित हाउस, सोना हाउस, दुर्ग और राजनांद स्थित घर और कार्यालय से कई अहम दस्तावेज मिले हैं जो प्रदेश के कई मंत्रियों और ताकतवर अधिकारियों के लिए मुश्किल खडी कर सकते हैं। इन दस्तावेजों में आईटी को ऐसे सुराग मिले हैं जिसके बाद विदेश भ्रमण की लत लगा चुके कई मंत्री और उनके विभाग के कई अधिकारी नप सकते हैं। सत्ता के गलियारे में इस समय सन्नाटा पसर गया है इस संबंध में सभी ने चुप्पी साध ली है।

मुख्यमंत्री का करीबी है पप्पू भाटिया

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात को मुख्यमंत्री के पुत्र सांसद अभिषेक सिंह द्वारा एक समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें करीबी मेहमानों में प्रदेश की कई नामी हस्तियां, राज्य सरकार के मंत्री और बडे अधिकारी शामिल हुए। इस समारोह में पप्पू भाटिया ने भी सीएम हाउस से आए बुलावे के बाद शिरकत की। जहां वे मंत्रियों और अधिकारियों के साथ समारोह का आनंद लेते देखे गए। प्रदेश के मुख्यमंत्री और उनके पुत्र सांसद अभिषेक सिंह के करीबी माने जाने वाले शराब ठेकेदार पप्पू भाटिया अपनी कारगुजारियों को लेकर हमेशा सुर्खिया बटोरते रहे हैं।

कार्रवाई जारी है

छत्तीसगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष व शराब कारोबारी बलदेव सिंह भाटिया के घर आईटी की टीम ने छापा मारा है। सुबह 6 बजे से शुरू हुई छापेमारी की कार्रवाई राजधानी रायपुर के अलावे प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में चल रही है। मिली जानकारी के अनुसार राजधानी के अलावा दुर्ग व राजनांदगांव में छापेमारी की कार्रवाई चल रही है। बलदेव सिंह भाटिया का कारोबार छ्त्तीसगढ़ के अलाव प्रदेश के कई दूसरे राज्यों में भी है। भाटिया की गिनती शहर के सबसे रसूखदार कारोबारी में होती है। हाल के दिनों में लोढ़ा कमेटी की सख्ती के बाद भाटिया ने छत्तीसगढ़ ओलंपिक महासचिव के पद से इस्तीफा दिया था। भाटिया का राजनीतिक हलको में भी गहरी पैठ है और उन्हें सूबे के कई मंत्रियों व बीजेपी नेताओं का बेहद करीबी माना जाता है। आईटी विभाग के सूत्रों के मुताबिक ये छापेमारी करोड़ों की टैक्स चोरी के मद्देनजर किया गया है। छापेमारी में करीब 90 से ज्यादा आईटी टीम के लोग लगे हुए हैें।  रायपुर के सिविल लाइंस क्षेत्र सहित कई शहरों में अलग अलग ठिकानों पर इनकम टैक्स की कार्रवाई जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *