Chhattisgarh Raipur

छत्तीसगढ़: फलाहारी बाबा के बाद अब आईएएस अफसर की बारी..!

रायपुर। बिलासपुर की एक युवती से अनाचार करने के आरोप में अलवर में गिरफ्तार किए गए फलाहारी बाबा के बाद छत्तीसगढ़ के एक आईएएस अफसर की बारी है। शोषण के मामले में इस अफसर के खिलाफ उचित मंच पर शिकायत करने की तैयारी है। बताया गया है कि मकान खरीदने के लिए राशि उपलब्ध कराने का प्रलोभन देकर यौन शोषण करने के बाद अधिकारी मुकर गया। परिणामस्वरूप पीडि़ता अब उसकी शिकायत करने की तैयारी में है।
छत्तीसगढ़ सरकार में एक बड़े ओहदे में पदस्थ यह अधिकारी रिटायरमेंट के करीब है। पीडि़ता ने आरोप लगाया है कि बीते करीब डेढ़ साल से वह इस अफसर के सम्पर्क में है। अफसर ने उसे मकान खरीदने के लिए राशि उपलब्ध कराने का वादा किया था। इसके एवज में वह उसे रायपुर बुलाकर आलीशान होटलों में ठहराया करता था। लगातार मुलाकातों के बाद भी जब अधिकारी ने अपना वादा नहीं निभाया तब उसके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी की गई।
सरकार का करीबी
बताया गया है कि यह आईएएस अधिकारी राज्य सरकार और खासकर मुख्यमंत्री का बेहद करीबी रह चुका है, जिसके कारण प्रदेश के तकरीबन सभी महत्वपूर्ण जिलों में उसे कलक्टर बनाया जा चुका है। संकेत हैं कि रिटायरमेंट के बाद राज्य सरकार उसे कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी दे सकती है।
कांग्रेस से भी निकटता
इस अधिकारी की कांग्रेस के बड़े नेताओं से खासी निकटता है लेकिन प्रदेश कांग्रेस के कुछ वर्तमान नेताओं के साथ उसके सम्बंध अच्छे नहीं कहे जा सकते। सत्ता परिवर्तन की स्थिति में भी इस अफसर की सेवाएं लिए जाने की संभावना से निकार नहीं किया जा सकता।
कौन है पीडि़ता
दक्षिण छत्तीसगढ़ के एक शहर में रहने वाली पीडि़ता सोशल मीडिया के माध्यम से इस अफसर के सम्पर्क में आई। इसके बाद रायपुर में मुलाकातों का सिलसिला शुरू हुआ। हर मुलाकात के बाद अफसर उसकी आर्थिक मदद भी करता रहा। इस बीच पीडि़ता ने अफसर से कहा कि वह एक मकान खरीदना चाहती है, जिसके लिए राशि की आवश्यकता है। अफसर ने उसे राशि उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। यह आश्वासन हर मुलाकात में दिया जाता रहा। आखिरकार पीडि़ता का धैर्य का बांध टूट गया। दो महीने पहले अफसर ने उसे रायपुर बुलाया और एक स्टार होटल में ठहराया। उसी मुलाकात में दोनों के बीच बहस हो गई। अफसर ने फिर आश्वासन दिया तो पीडिता ने कहा कि अब बहुत हो गया है। डेढ़ साल से सिर्फ आश्वासन ही दिया जा रहा है। पीडि़ता से साफ कह दिया कि दोनों की यह अंतिम  मुलाकात है। इसके बाद जो होगा, निपटने के लिए तैयार रहिएगा।
मुलाकात की रिकॉर्डिंग
बताया गया है कि इस अंतिम मुलाकात में पीडि़ता के साथ एक महिला भी थी, जिसे दिल्ली के एक बड़े समाचारपत्र समूह का पत्रकार बताया जा रहा है। उसने दोनों के बीच हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग की है, जिसे प्रमाण के तौर पर पेश किए जाने की तैयारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *