Chhattisgarh Korba

नहीं टूट रहा रसूखदार का बेजाकब्जा

कोरबा। करतला विकासखंड के ग्राम भैंसामुड़ा में आयोजित लोक सुराज अभियान के समाधान शिविर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का उडनख़टोला उतरा। जहां उन्होंने शिविर में प्राप्त आवेदनों के समस्या निराकरण का जायजा लिया। भैसामुड़ा में आयोजित लोकसुराज के समाधान शिविर में प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से रसूखदार के बेजा कब्जा की शिकायत भी की गई। तुलसीनगर टीपी नगर में रसूखदार कमलनारायण सिंह द्वारा 53डिसमिल शासकीय भूमि पर बेजा कब्जा किया गया है। भूमि सीमाकंन व जांच में रसूखदार द्वारा बेजा कब्जा किया जाना स्पष्ट हो चुका है। जिसे लेकर कलेक्टर द्वारा बेजा कब्जा हटाने निगम आयुक्त एवं नजूल तहसीलदार को आदेशित किया जा चुका है। कलेक्टर के आदेश के बाद भी बेजा कब्जा नहीं हटाया जा रहा है। जिसे लेकर शिकायत कर्ता ने कलेक्टर जनदर्शन में भी इस मामले को जिलाधीश मो.कैसर अब्दुलहक के संज्ञान में लाया था। जनदर्शन में शिकायत के बाद भी रसूखदार का बेजा कब्जा नहीं हटाया जा रहा है। जिसे लेकर अब इस मामले की शिकायत समाधान शिविर में डॉ. रमन सिंह से की गई है। मामले की लिखित शिकायत का ज्ञापन सौंपा गया है। सीएम के निजसचिव मुकेश बसंल को यह शिकायत पत्र दिया गया है। शिविर के दौरान जब मुख्यमंत्री कोचियागिरी बंद होने की जानकारी लेने लगे, जब उन्होंने लोगो से जानकारी चाही तो भीड़ से भैंसामुड़ा निवासी महिला श्यामबाई कश्पय ने मुख्यमंत्री के सामने बताया कि शराबियों से पूरा गांव परेशान है, शादी के बाद पिछले 17 साल से वो इस गांव में है तब से यही स्थिति बनी हुई है। शराबी आए दिन लोगो को परेशान करते है। यहां तक की उसने खुद से पति के भी गांजा पीये जाने की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने महिला के साहस की तारीफ करते कहा कि यह महिला शक्ति का परिणाम है यह महिला अपने घर को भी ठीक करेगी और बाहर के लोगो को भी। इसी बीच पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने अवैध शराब ब्रिकी की जानकारी दी जिस पर मुख्यमंत्री ने मंच से ही आबकारी विभाग के अधिकारियों को इस पर रेक लगाने के निर्देश दिए। शिविर में जमीन से जुड़े मामलों में सीएम ने ग्रामीणों से महिला पटवारी के कार्यों की जानकारी ली। सीएम ने पूछा पटवारी पैसे तो नहीं मांगती। ग्रामीणों ने कहा नहीं मांगती अच्छा काम करती है। जिस पर सीएम ने महिला पटवारी की प्रशंसा करते हुए उनके लिए ताली बजवाई। लोक सुराज अभियान 2018 के तीसरे चरण में गुरुवार को मुख्यमंत्री का उडनख़टोला भैंसामुड़ा में उतरा। यहां करतला विकासखंड के 12 पंचायतों के लिए समाधान शिविर लगा हुआ था। जहां आवेदनों के निराकरण की जानकारी डॉ. रमन ने ली और संबंधित विभाग के अधिकारियों से सीएम ने जवाब-तलब किया। खाद्य अधिकारी एच मसीह को राशन कार्ड की शिकायतों पर सीएम ने कड़ी हिदायत दी। 15 दिवस के भीतर राशन कार्डों के सभी आवेदनों का निराकरण करने का आदेश दिया गया। पेयजल की समस्या के दूर होने पर सीएम ने संतुष्टि जताई। लोगों के मिले आवेदनों के शत प्रतिशत निराकरण पर प्रशंसा जताई। करतला क्षेत्र में 27 सोलर पंप लगाए जाएंगे। 25 करोड़ की लागत से जिला खनिज न्यास मद के तहत मड़वारानी मंदिर के पास जलापूर्ति योजना के तहत काम किया जाएगा। जिससे 50,802 लोगों को पेयजल सहज रूप से उपलब्ध होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र में कहीं भी पानी की कमी नहीं होगी। इसके अलावा उन्होंने अगस्त माह तक संपूर्ण विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया है। विकास यात्रा के दूसरे चरण के तहत विद्युतीकरण करने का समय दिया गया है। मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की मेगा शिविर का आयोजन करने का निर्देश भी अधिकारियों को दिया है। औद्योगिक जिला होने के नाते कम श्रमिकों के पंजीयन को लेकर उन्होंने नाराजगी जताई। शिविर में उन्होंने लोगों के नाम जोडऩे के निर्देश दिए। आवेदनों पर सीएम ने 3 करोड़ के कार्यों की मंजूरी दी है।

कांग्रेस-बसपा गठबंधन से नुकसान नहीं : सीएम
नक्सल क्षेत्र में फंड की तुलना में कम कराए जाने के आरोप पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जवानों का शोर्य है कि वे नक्सलियों से लगातार मुकाबला कर विकास कार्य को आगे बढ़ाने में सहयोग दे रहे है। पहले केवल 20-30 किमी सड़क का निर्माण नक्सल क्षेत्र में किया जाता था, हम 300 से अधिक किमी सड़क का निर्माण कर रहे है। वहीं कांग्रेस-बसपा के साथ आने के संकेतों से भाजपा को चुनाव में कोई नुकसान नहीं पहुंचने की बात सीएम ने कही। उन्होंने कहा कि भाजपा विकास कार्य के बूते चुनाव जीतेगी। किसी गठबंधन का कोई नुकसान नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *