Chhattisgarh dhamtari

परिजन की डांट से नवागांव के नाबालिग बच्चे पहुंचे मुंबई

करेली बड़ी। करेली बड़ी पुलिस के जाबाज सिपाही आरक्षक की मदद से एक नाबालिक बच्चे मुंबई से सकुशल गृह ग्राम नवागांव(खिसोरा) पहुंचे जहां परिजन को सुपुर्द किया गया। विकासखण्ड करेली बड़ी के पुलिस चौकी क्षेत्र के ग्राम नवागांव में एक नाबालिक का गुम होने की खबर चौकी में पहुंची। पुलिस रिपोर्ट से मिली यह जानकारी के मुताबित 4 अप्रैल को नवागांव से सुबह 10 बजे नाबालिक 15 वर्षीय बालक गुम हो गया। परिजनों ने बालक को खूब पतासाजी की परिजन आसपास क्षेत्र में पता किया किन्तु कोई भनक नही मिली। परिजनों को शंका हुआ की कोई बालक को गुमराह कर कही ले गया है। तब परिजन नाबालिक के पिता दीनदयाल साहू ने करेली बड़ी चौकी में गुम इंसान की रिपोर्ट दर्ज की। चौकी प्रभारी संजय यादव ने बताया की कुछ दिन बाद अकस्मात परिजन के मोबाइल में काल आया की उनका पुत्र मुंबाई में है।तब इनकी सुचना तत्काल करेली बड़ी पुलिस को दी। फिर करेली पुलिस ने विभागीय कुछ अधिकारी पुलिस अधीक्षक,अतरिक्त पुलिस अधीक्षक और पुलिस अनुविभागीय को जानकारी साझा की। अधिकारी ने एक समिति बनाकर मुंबई के लिए जाबाज एएसआई परस राम वर्मा,आरक्षक मनोज कुमार सिन्हा और नाबालिक के पिता के साथ रवाना किया ।3 से चार दिन बाद मुंबई पहुँच कर एनजीओ सदन में पतासाजी की तब बताया की उमरखाड़ी के गृह निरीक्षक बाल गृह में होना बताया। करेली पुलिस उस क्षेत्र में पहुँच कर बच्चे को अपने संरक्षण में लिए लिया। करेली चौकी पहुँच कर नाबालिक बालक से पुछताज किया ।बच्चे ने कहा की परिजनों के आय दिन पढ़ाई न करने की बात को लेकर मेरे को डांट फटकार लगाया जाता है। इस बात से गुस्सा कर घर से बिना बताये निकल गया। बच्चे ने कहा की वह किसी के बहकावे में नही भगा था।तब करेली पुलिस ने गांव में लेजाकर बच्चे को सुरक्षित परिजन को सुपुर्द किया गया। जाबाज करेली बड़ी पुलिस के सहयोग से एक परिजन को उनका पुत्र सुरक्षित मिल गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *