Chhattisgarh

बगैर चढ़ावा के कोई काम नहीं करते पटवारी

सारंगढ। चाहे नामांतरण का मामला हो या जाति आय निवास का मुद्दा हो या आवास निर्माण, जमीन क्रय-विक्रय संबंधी कार्य हो या फिर कोई भी राजस्व पटवारी संबंधी काम हो सारंगढ क्षेत्र के पटवारीयो को लोगो से पैसे ऐंठने के मामलो पर अब आवाजे बुलंद तरीके से उठना शुरु हो गई है। पटवारी हल्का नंबर 10 के क ई ग्रामजनो ने कल सारंगढ तहसीलदार श्री डहरिया को सर्व हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन सौंपकर हल्का नंबर 10 के पटवारी सी.एल.प्रभाकर के ऊपर राजस्व संबंधी कोई भी काम मे लोगो से बगैर चढ़ावा लिये उनका कोई काम नही किये जाने का आरोप लगाकर उन्हे तत्काल इस पटवारी हल्का से हटाने की मांग की है।तहसीलदार को सौंपे गये ज्ञापन मे प.ह.नंबर 10 के निवासी ग्रामजनो ने कहा है कि उक्त पटवारी साहब गरीब ब्यक्तियो से मकान,खेत,नामांतरण कै लिये सात हजार रुपये की मांग करते हैं वही कोई ब्यक्ति अपना जमीन बैचने पटवारी साहब से नक्शा खसरा तैय्यार करने आवेदन देते है तो पटवारी साहब इनसे पाँच हजार रुपये खुलेआम सेवापानी के नाम पर मांगते है,ज्ञापन मे उक्त आरोपो के साथ त्वरीत कार्यवाही की गुजारिश पटवारी हल्का नंबर 10के ग्रामजऩो ने तहसीलदार सारंगढ से किये है।

हलकों में पटवारियों की फेरबदल जरूरी

सारंगढ राजस्व अनुविभाग अन्तर्गत प्राय सभी पटवारी हल्को मे पिछले क ई वर्षो से पटवारी कल्ठी मारकर बैठे है जिसके नतीजतन पटवारी गण अडिय़ल और मनमौजी कार्य कर रहे है यहां हल्का मे पदस्थ पटवारियो का फेरबदल भी बहुत जरुरी है राजस्व विभाग के उच्चाधिकारी इस दिशा मे गौर करे। लंबे समय से हल्का मे पदस्थ रहने की वज़ह से पटवारी क्षेत्र के कद्दावर नेताओ से मधुर संबंध बना के चलते है जिसके नतीजै स्वरूप पटवारी कै खिलाफ कोई शिकायत अगर हल्कावासी करते है तो नैतागण की सिफारिश संबंधीत अधिकारी के पास पहुंच जाती है उसके बाद पटवारी के विरूद्ध शिकायत रद्दी की टोकरी मे पहुंच जाती है और.. फिर.. क्या..लोगो की समस्या ज्यों की त्यों।सारंगढ राजस्व अनुविभाग मे चल रही इस दकियानूसी काम को थामने कै लिये उच्चाधिकारीयो की हस्तक्षेप के साथ ही इनके बीच फेरबदल भी बहुत जरूरी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *