Chhattisgarh Raipur

ब्रेकिंग न्यूज ब्रेक करने वाली न हो

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में बोले उपराष्ट्रपति

रायपुर। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने कहा है कि पत्रकारिता एक मिशन है, कमीशन नहीं। पहले पत्रकारिता एक मिशन थी, आज यह उद्योग का स्वरूप ले रही है। इससे पत्रकारिता की विश्वसनीयता प्रभावित हो रही है। उन्होंने कहा कि ब्रेकिंग न्यूज ब्रेक (तोडऩे) करने वाली न हो बल्कि यह सकारात्मकता और समाजिक समरसता को बढ़ावा देने वाली होनी चाहिए। शासकीय विज्ञान महाविद्यालय परिसर स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में बुधवार को कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के तृतीय दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि पत्रकारिता के विद्यार्थी एक आदर्श पत्रकार के रूप में देश और समाज हित में काम करें और एक सशक्त राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दें। माता, मातृभूमि, मातृभाषा और गुरुजनों का सम्मान करना कभी न भूलें। आज आईटी का युग है लेकिन इंटरनेट के गूगल जैसे सर्च इंजन कभी भी किसी गुरु का स्थान नहीं ले सकते। उन्होंने कहा कि मैने अपने 40 साल के सार्वजनिक जीवन में पत्रकारों से काफी कुछ सीखा है, उनके साथ बातचीत से हिन्दी सीखने का अवसर मिला। इलेक्ट्रानिक समाचार चैनलों के बाद अब सोशल मीडिया का प्रभावशाली औजार पत्रकारों के हाथ में है, लेकिन इसके साथ पत्रकारों की जिम्मेदारी और बढ़ गई है। इन आधुनिक सुविधाओं का उपयोग विवेकशीलता के साथ समाज और देश के हित में किया जाना चाहिए।

तथ्यों की पुष्टि आवश्यक: सीएम

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पत्रकारिता का गौरवशाली इतिहास रहा है। समाचारों की विश्वसनीयता ही पत्रकारिता की पहचान होती है। एक स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए स्वस्थ्य और निष्पक्ष पत्रकारिता बहुत जरूरी है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पत्रकारिता का अनिवार्य हिस्सा है लेकिन अभिव्यक्ति के साथ-साथ सामाजिक जिम्मेदारी और राष्ट्रहित सर्वोपरि है। समाचार देने के पहले तथ्यों की पुष्टि आवश्यक है। पत्रकार जो बोलता और लिखता है, उसका मूल्यांकन आने वाली पीढ़ी करती है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के इस पहले पत्रकारिता और जनसंचार विश्वविद्यालय की जब कल्पना की थी तभी यह तय किया गया कि विश्वविद्यालय का नामकरण प्रखर चिंतक और विचारक कुशाभाऊ ठाकरे की स्मृति में किया जाएगा।  19 विद्यार्थियों को स्वर्णपदक दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय के 406 विद्यार्थियों को डिग्री और 19 विद्यार्थियों को स्वणज़् पदक प्रदान किए गए। इनमें वर्ष 2014-15 एवं वर्ष 2016 व 2017 के बीच में उत्तीर्ण एम.फिल. के 27, स्नातकोत्तर के 170 और स्नातक के 209 छात्र-छात्राओं को उपाधियां दी गई।

पत्रिका का विमोचन

इस अवसर पर उपराष्ट्रपति ने विश्वविद्यालय की स्मारिका ”केटीयु न्यूज” के दीक्षांत विशेषांक का विमोचन किया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डॉ. मानसिंह परमार ने स्वागत उद्बोधन दिया। कुलसचिव डॉ. अतुल कुमार तिवारी ने आभार प्रदर्शन किया। समारोह में विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवाल और सांसद रमेश बैस विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *