Chhattisgarh Koriya

मदिराप्रेमियों को शराब खरीदने जाने में होती है दिक्कत, जल्द बनाओ बरसात से पहले सड़क

-पहले शराब दुकान का निर्माण अब सड़क बनाने का फरमान

– कलेक्टर ने शराब दुकान तक सड़क निर्माण के लिए नगरपालिका को पत्र लिखकर दिया निर्देश

बैकुंठपुर/मनेंद्रगढ़। छत्तीसगढ़ सरकार का इन दिनों मदिराप्रेमियों के प्रति प्रेम देखते ही बन रहा है। पहले सदन से लेकर सड़क तक तमाम तरह के विरोध के बावजूद सरकार ने शराब दुकान का संचालन का जिम्मा उठाया अब सरकार मदिराप्रेमियों को शराब दुकान तक जाने में हो रही असुविधा को देखते हुए शराब दुकानों तक नई सड़क बनाने का बीड़ा भी उठा रही है। सरकार द्वारा शराब दुकानों का संचालन करने के बाद अब सरकार शराब दुकानों तक आवागमन के लिए सड़क बनाने के लिए भी कवायद शुरु कर दी है। कोरिया जिले के कलेक्टर ने शराब दुकानों तक बरसात से पहले सड़क बनाने के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को पत्र लिखकर निर्देशित किया है। कलेक्टर द्वारा जारी निर्देश में मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को इस बात का हवाला दिया गया है कि जिले के बैकुंठपुर में देशी—विदेशी मदिरा दुकान व मनेंद्रगढ़ में देशी शराब दुकान पहुंचविहीन मार्ग पर है। यहां बरसात के समय चलना भी दूभर है। दोनों शराब दुकान का पहुंच मार्ग कच्चा है, एवं मार्ग में बहुत अधिक गडडे है। वर्षा ऋतु में इन मार्गों पर परिवहन व आवागमन बेहद खतरनाक हो जाएगा। साथ ही मदिरा दुकानों में शराब की सप्लाई भी प्रभावित हो जाएगी। इसलिए इन दोनों शराब दुकानों के पहुंच मार्ग का निर्माण कार्य नगरपालिका के पास उपलब्ध बजट से शीघ्र अतिशीघ्र किया जाए।



शराब दुकान के बहाने मिल जाएगी सड़क

गौरतलब है कि मनेंद्रगढ़ नगरपालिका क्षेत्रांर्तगत वार्ड क्रमांक 21 के रापाखेरवा में देशी शराब दुकान का निर्माण कर संचालन किया जा रहा है। वहां के लोग कई वर्षों से नगरपालिका से सड़क की मांग कर रहे है, लेकिन कई बार मांग करने के बाद भी आजतक यहां सड़क नहीं बन पाई है। अब जब शराब दुकान का यहां संचालन सरकार द्वारा किया जा रहा है तो सड़क के लिए सरकार ने हरी झंडी दे दी है। ऐसे में यहां रहने वाले लोगो का मानना है कि उन्हें भले ही शराब दुकान के कारण सड़क की सौगात मिल रही है, लेकिन हमारी मांग तो पूरी हो रही है।


शराब दुकान तक सड़क के लिए बजट
नगरपालिका क्षेत्रांर्तगत कई ऐसे इलाके है जहां आवागमन के लिए सड़क नहीं है। यहां सड़क निर्माण के लिए नगरपालिका द्वारा बजट का रोना रोया जाता है, लेकिन शराब दुकानों तक पहुंचने के लिए सड़क निर्माण के काम में नगरपालिका प्रशासन द्वारा खजाने खोल देने समझ से परे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *