Chhattisgarh Dantewada

यूबीजीएल फटने से सीआरपीएफ के तीन जवान घायल, एक गंभीर

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में आज सुबह शस्त्रों की सफाई के दौरान असावधानीवश यूबीजीएल फट जाने से सीआरपीएफ के 3 जवान घायल हो गए, जिनमें से एक की हालत चिंताजनक बतायी जा रही है।
पुलिस के मुताबिक कुंआकोंडा थाना क्षेत्र के अरनपुर कैम्प में आज सुबह सीआरपीएफ 111वीं बटालियन के जवान शस्त्रों की सफाई कर रहे थे। इसी दौरान लगभग 8 बजे असावधानीवश यूबीजीएल से धमाका हो गया। विस्फोट में 3 जवान एस सोनरपालन निवासी कन्याकुमारी तमिलनाडु, एम ज्ञान शेखरन निवासी कटबड़ी और रामसिंह निवासी भिंड बुरी तरह जख्मी हो गए। घायलों में कांस्टेबल सोनाप्पा गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, वहीं कांस्टेबल ज्ञान शेखर को छाती में चोट लगी है। कांस्टेबल रामसिंग पेट के पास चोट लगी है।
दंतेवाड़ा एसपी कमलोचन कश्यप ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि घायलों को दंतेवाड़ा में प्राथमिक उपचार के बाद रायपुर रेफर कर दिया गया है।
गौरतलब है कि बस्तर में 24 घंटों के भीतर यह दूसरी बड़ी वारदात है, जिसमें पुलिस को क्षति पहुंची है। कल सुकमा जिले में नक्सलियों द्वारा किए गए बारूदी सुरंग विस्फोट में 9 जवान शहीद हो गए थे और 2 घायल हुए हैं।
क्या है यूबीजीएल
अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर (यूबीजीएल) एक 25 सेमी लंबा लांचर है, जो एके 47 और इंसास राइफल के बैरल के नीचे लगाया जाता है।
इससे एक मिनट में 5 से 7 गोले 400 मीटर की दूरी तक निशाना साधकर दागे जा सकते हैं। इसका वजन करीब डेढ़ किलो, नली का व्यास 4 इंच 4.6 सेमी और लंबाई 25 सेमी होती है। लो फ्लाइंग जोन में हेलिकाप्टर पर भी निशाना साधा जा सकता है। यूबीजीएल से लो फ्लाइंग जोन यानी हेलिकाप्टर के टेक ऑफ या लैंडिग के वक्त आसानी से निशाना बनाया जा सकता है। इसके साथ ही अंदरुनी इलाके में बने हेलीपेड में 400 मीटर की दूरी से इससे हेलिकाप्टर पर दागा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *