Chhattisgarh Raipur

शिवरतन ने विनायक, बेला और अग्निवेश को बताया नक्सली समर्थक

रायपुर। बुर्कापाल नक्सली हमले पर आज छत्तीसगढ़ विधानसभा में गरमागरम बहस के दौरान सत्ताधारी पार्टी के सदस्य शिवरतन शर्मा के तीखे बोल पर सदन में न केवल जमकर टोकाटोकी हुई बल्कि विपक्ष ने वॉकआउट भी कर दिया। शिवरतन ने कहा कि विनायक सेन, बेला भाटिया और अग्निवेश मानवाधिकार की आड़ में नक्सलवाद को सपोर्ट कर रहे हैं। ऐसे लोगों को बेनकाब किया जाना चाहिए।

शिवरतन ने आगे कहा कि नक्सलवाद और आतंकवाद के समर्थन में जो लोग हैं, कांग्रेस उन्हीं के समर्थन में खड़ी हो जाती है। राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल ने जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने वालों का कैम्पस में पहुंचकर समर्थन किया था। इस पर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि चर्चा नक्सलवाद पर हो रही है, व्यक्तिगत आरोप-प्रत्यारोप ठीक नहीं है। इसके बाद विपक्ष नारेबाजी करते हुए वाकआउट कर गया। आसंदी ने व्यवस्था दी कि विपक्ष के बाहर जाने के बाद भी चर्चा जारी रहेगी।

चर्चा में हिस्सा लेते हुए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने पूछा कि चूक कहां हुई? जवानों पर इतना बड़ा हमला कैसे हो गया? इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? गृहमंत्री यहां आकर कहते हैं कि नई नीति बनानी होगी, कब बनेगी वो नीति? क्या वे सिर्फ यहां गिनती करने आए थे। हर बार इंटलिजेंस फेल हो रहा है। नक्सलियों को हर बार पता होता है कि फोर्स किस तरफ से आ रही है। स्थानीय लोगों का विश्वास चौदह साल के शासन में भी सरकार नहीं जीत पाई। सरकार को अगर पता है कि बस्तर में रहने वाले कौन लोग नक्सलियों का सहयोग करते हैं तो सरकार को चाहिए कि वहां से निकाल फेंके उन्हे नई तकनीक तो अब आ गई है जिससे पता लगाया जा सके कि कहां कितने नक्सली इक्ठ्ठा हैं, फिर क्यों नहीं इसका इस्तेमाल हो रहा। ड्रोन का उपयोग चौबीस तारीख को हुआ कि नहीं? हम ऐसी व्यवस्था क्यों नहीं करते कि सेटेलाइट से रिकॉर्डिंग करें।

One thought on “शिवरतन ने विनायक, बेला और अग्निवेश को बताया नक्सली समर्थक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *