Chhattisgarh Durg-Bhilai

समाधान शिविर के जवाब से असंतुष्ट हो रहे हैं आवेदनकर्ता

पाटन। लोक सुराज अभियान के तहत मिले आवेदनों का निराकरण के नाम पर ग्रामीणों से मजाक किया जा रहा है।प्राप्त आवेदनों को समाधान के नाम पर केवल खानापूर्ति ही किया जा रहा है। विभागीय अधिकारियों के जवाब से अधिकांश आवेदनकर्ता असंतुष्ठ नजर आए।
शुक्रवार को सेलूद में लगे समाधान शिविर में ग्राम पंचायत सेलूद, गोंड़पेंड्री, परसाही, फेकारी, धौराभाठा, महकाखुर्द, महकाकला, पतोरा,चुनकट्टा,ढौर पंचायत के 2088 आवेदन में से 2028 निराकृत एवं 60 आवेदको को निराकरण अपूर्ण की स्थिति बताई। विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाया था।हितग्राहियो को आवेदनों की स्थिति से अवगत कराया। कुछ मांगो से सम्बंधित था, इसके अलावा कुछ शिकायते थी जिसे दूर किया गया। ग्रामीणों ने शिविर में भी आवेदन दिए।
इस दौरान प्रमुख रूप से अपर कलेक्टर एस. एन. मोटवानी,एसडीएम जी.आर.महिपाल, तहसीलदार शारदा अग्रवाल, सीईओ जे.एस.राजपूत,सेलूद सरपंच खेमलाल साहू,पतोरा सरपंच तारिणी वर्मा,सहित जिले के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे शिविर में 284 जाति प्रमाण पत्र,284 निवास प्रमाण पत्र,उज्वला योजना के तहत 30 रसोई गैस सिलेंडर,कृषि विभाग द्वारा 10 किसानों को स्पेयर, राष्टीय सहायता योजना के अंतर्गत चेक। दिब्यानगो को ट्रिसिकल ,प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत गृह प्रवेश के लिए ताला चाबी, सौभाग्य योजना के अंतर्गत 10 नग एल ई डी बल्ब, मुख्य मंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत प्रमाण पत्र, मछली पालन हेतु आईस बॉक्स, 27 लोगो को राशन कार्ड, श्रम विभाग द्वारा 25 हितग्रहियों को श्रमिक कार्ड दिया गया।
शिवीर में नही पहुंचे जनप्रतिनिधि
सेलूद के लोक सुराज समाधान शिविर में क्षेत्र के कोई भी जनप्रतिनिधि नही पहुंचे जिसको लेकर उपस्थित ग्रामीणों में चर्चा का विषय रहा।
इस बार भी नही आये कलेक्टर
पिछली दो बार के जनसमस्या निवारण शिविर व लोक सुराज समाधान शिविर में कलेक्टर उमेश अग्रवाल नहीं पहुंचे। आवेदन कर्ता हर बार की तरह इसबार भी कलेक्टर महोदय का इंतजार करते रहे। लेकिन इस बार भी नही आने से मायुष होकर वापस घर चले गए। कलेक्टर के नही आने से अधिकारी भी ढीले नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *