Chhattisgarh Rajnandgaon

साथी सुपरवाईजर ही निकला धोखाधड़ी का मास्टरमाइंड

भिलाई स्टील प्लांट का सुपरवाईजर एवं फर्जी खाताधारक गिरफ्तार

राजनांदगांव। प्रार्थी मुक्तावन लाल पिता मानसिंह चतुर्वेदी उम्र 60 साल साकिन कोलिहापुरी दुर्ग ने थाना कोतवाली में लिखित शिकायत दर्ज कराया कि दिनांक घटना 4 अप्रैल 2018 को प्रार्थी के खाता क्रमांक 0076000401352103 पंजाब नेशनल बैक सिविक सेंटर भिलाई के फर्जी चेक में फर्जी हस्ताक्षर के माध्यम से मदन लाल द्वारा 708000 रूपये अपने खाता पंजाब नेशनल बैक राजनांदगांव में अंतरण कर 5 अप्रैल 2018 को आहरण कर धोखाधड़ी किया गया है।
रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 255/18 धारा 420 भादंवि का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल एवं अति. पुलिस अधीक्षक राजेश अग्रवाल के मार्गदर्शन में विवेचना के दौरान प्रकरण के अज्ञात आरोपी का पतासाजी हेतु कोतवाली पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए प्रकरण के आरोपी की पतासाजी हेतु जुट गयी तब प्रार्थी के पंजाब नेशनल बैंक, नेशनल बैंक के खाते में डले रजिस्टर्ड मोबाईल नंबर की जानकारी प्राप्त करने पर यह ज्ञात हुआ कि उक्त प्रार्थी के द्वारा उक्त नंबर प्रार्थी मुक्तावन लाल के द्वारा नहीं चलाया जा रहा है।

जिस पर रजिस्टर्ड मोबाईल नंबर का पतासाजी किया गया जिसे भिलाई स्टील प्लांट के सिविल सुपरवाईजर अशोक चंद्राकर के द्वारा चलाया जाना पाने से आरोपी अशोक चंद्राकर निवासी लक्ष्मीनगर भिलाई से पुछताछ करने पर बताया कि प्रार्थी मुक्तावन लाल उसके डिपाटमेंट का आदमी है जो उसके अधिनस्थ काम करता है।
जिसके बैंक के खातों एवं हस्ताक्षर एवं रिटायरमेंट की तिथि की जानकारी होने पर उसने रिटायरमेंट के पैसों को हड़पने की नियत से योजना बनाकर पहले मुक्तावन लाल के खाते से एक चेक बुक फर्जी साईन से इशु कराया तथा उसी खाते में मैसेज अलर्ट के लिए अपना नंबर रजिस्टर्ड करवाया। तत्पश्चात प्रार्थी मुक्तावन लाल के खातों की जानकारी इसे निरंतर प्राप्त होने पर तथा प्रार्थी के रिटायरमेंट की डेट नजदीक आने पर आरोपी ने कृष्ण कुमार गोड़ का फर्जी आधार कार्ड एवं पेन कार्ड मदन लाल के नाम पर बनाकर पंजाब नेशनल बैंक राजनांदगांव में खाता खोला तब 3 अप्रैल 2018 को प्रार्थी मुक्तावन लाल के खाते में ग्रे’युटी के पैसे आने का मैसेज आरोपी के मोबाईल में आने पर आरोपी के द्वारा 4 अप्रैल 2018 को प्रार्थी के खाते से 7080000 रूपये फर्जी चेक के माध्यम से मदन लाल के खाते में ट्रांसफर कराया और अगले दिन उस रकम को राजनांदगांव के पंजाब नेशनल बैंक की शाखा से आाहरित कर धोखाधडी किया। जिस पर आरोपी षडयंत्रकारी सुपरवाईजर अशोक चंद्राकर पिता घनश्याम चंद्राकर उउ्र 53 निवासी 8 लक्ष्मी नगर रिसाली के कब्जे से धोखाधडी कर रकम 452000 रूपये एवं प्रयुक्त दो नग मोबाईल को विधिवत जप्त किया गया।

बाद आरोपी अशोक चंद्राकर पिता घनश्याम चंद्राकर उम्र 53 वर्ष को एवं फर्जी खाता धारक कृष्णालाल पिता पीलाराम गोड उम्र 62 साल निवासी बोरसीभाठा दुर्ग को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया। आरोपियों को त्वरित गिरफ्तारी कार्यवाही करने में कोतवाली पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक याकूब मेमन, उनि सतिश कुमार पुरिया, सउनि सीपी तिवारी , आरक्षक गषिदास, अखिलेश साहू सायबर सेल की भुमिका सराहनीय रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *