Chhattisgarh Durg-Bhilai

सेवानिवृत्त कर्मियों को पूर्व की तरह होगा आवास आबंटन

भिलाईनगर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन के सीईओ एम.रवि एवं निगम आयुक्त के.एल.चौहान, टाउनशिप के प्रभारी महाप्रबंधक ए.के.पति सहित निगम के सभी जोन आयुक्तों, अधिकारियों के साथ नीतिगत मुद्दों पर संयुक्त बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
उक्त महत्वपूर्ण बैठक में मंत्री ने भिलाई इस्पात संयंत्र से सेवानिवृत्त कर्मचारियों और अधिकारियों को पूर्व की तरह रिटेंशन स्किम के तहत आवास टाउनशिप में दीए जाएंगे, इसके अलावा उन सेवानिवृत कर्मचारियों से 64 गुणा किराया भी नहीं लिया जाएगा जो दो साल बाद भी आवासों में रह रहे हैं।

वहीं प्रबंधन द्वारा संयंत्र में काम करने वाले ठेका श्रमिकों को भी रिक्त आवास आबंटन किये जाएंगे। बैठक के बाद प्रेमप्रकाश पांडेय ने बताया कि, डीपीआर के तहत संयंत्र में कार्यरत ठेका-श्रमिकों को टाउनशिप में रिक्त आवास आबंटिक किये जाएंगे। इसके अलावा टाउनशिप में रिटेंशन स्किम के तहत सेवानिवृत के बाद संयंत्र आवासों में रहने वालों के मकान भी अब खाली नहीं कराए जाएंगे। मंत्रीजी ने प्रबंधन से कहा कि, रिटेंशन स्किम में आवासरत सेवानिवृत कर्मचारियों को अचानक आवास खाली कराए जाने पर वे कहांँ जाएंगे, जिसके तहत सेवानिवृत कर्मचारियों को पूर्व की तरह रिटेंशन के तहत आवास प्रदान किये जाएंगे जिसके लिए सहमति भी हो गई है।

मंत्रीजी ने बताया कि, उन्होंने प्रबंधन से कहा कि, जो कर्मचारी या अधिकारी रिटेंशन के तहत संयंत्र के आवासों में रह रहा है और प्रबंधन द्वारा दी गई तय अवधि समाप्त हो जाती है उसके बाद उनसे 64 गुणा किराया लेना उचित नहीं है।  इसलिए प्रबंधन कर्मचारियों, अधिकारियों से इतनी अधिक राशि न ले। यह राशि बहुत ज्यादा है जिससे सेवानिवृत कर्मचारियों को काफ ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और उन पर आर्थिक बोझ पड़ रहा है जिसे लेकर वे परेशान है। इसके अलावा टाउनशिप के आवासों में प्रबंधन को पुन: तारफेल्टिंग के कार्य को शीघ्र प्रारंभ कराये जाने पर सहमति बनी, साईं मंदिर के पास पुलिया निर्माण हेतु टेंडर जारी कर दिया गया जिसकी जानकारी प्रबंधन द्वारा दी गई और सेक्टरवार आवासों के पीछे बैक लाईन सफाई का कार्य जारी है। सेक्टर 2 व 5 के 24 यूनिट आवासों का मेंटनेंस होगा। सेक्टर 6 में निगम का नया जोन कार्यालय बनाया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *