रायपुर/डाक्टर का काम होता है इंजेक्शन लगाना, किंतु छत्तीसगढ के लगभग सभी सरकारी अस्पतालों में इंजेक्शन से लेकर माइनर सर्जरी तक वार्ड बॉय से करवाया जाता है,जो कि कानून के दायरे में हथियार से जानलेवा हमला करने की श्रेणी में आता है !!

यही कारण है कि कोई सरकारी अस्पतालों में इलाज कराने के लिए हजार बार सोचता है,बहुत मजबूरी में गरीबी के कारण सरकारी अस्पताल जाना पड़ता है,स्वास्थ्य विभाग के मंत्री और सचिव तथा मुख्यमंत्री भी इस बात को जानते हैं, लेकिन सरकार किसी भी दल की हो,यहां बदलाव नही हुवा…

चिकित्सा जगत को किया शर्मसार…

छत्तीसगढ़ में अब महिलायें सरकारी अस्पतालों में भी सुरक्षित नहीं,क्वारेंटाइन सेंटर से तो अनेकों शिकायतें भी मिल चुकी है,क्वारेंटाइन सेंटर में ही कईयों ने आत्महत्या कर ली हैं…आखिर गरीबों की जान इतनी सस्ती क्यों…?

बीती रात अस्पताल में कोरोना की एक संदेही महिला के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार ओडिशा से कोरबा लौटी महिला अपने 2 बच्चो के साथ ग्राम रंजना के क्वारंटाइन सेंटर में क्वारंटाइन थी। महिला को सेंटर में लगभग 11 दिन बीत चुके थे। 26 तारीख की रात्रि महिला की तबीयत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया जहा उपचार के दौरान वार्ड बॉय द्वारा छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया गया।

दो छोटे-छोटे बच्चों के साथ जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हुई महिला ने वार्ड बॉय से गर्म पानी मांगा तब वह महिला को रूम में आने की बात कहने लगा, जिसके बाद वह महिला को बच्चों को जल्दी सुला देने के लिए कहने लगा। रात्रि करीब 11बजे वार्ड बॉय शुभम गोस्वामी इंजेक्शन लेकर महिला के वार्ड में प्रवेश किया, महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद उससे छेड़छाड़ करने लगा। जिस पर महिला ने बाहर बैठे सुरक्षा कर्मियों को आवाज लगाई जिसके बाद वार्ड बॉय मौके से फरार हो गया।
महिला द्वारा इसकी शिकायत रामपुर चौकी में की गई है। मामले को गंभीरता से लेते हुए रामपुर थाना प्रभारी व उनकी टीम ने छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी युवक गोस्वामी जिला अस्पताल में वार्ड बॉय का काम करता है, जो कि रामपुर चौकी क्षेत्र अंतर्गत पोड़ीबाहर का निवासी है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 354 के तहत अपराध दर्ज कर न्यायालय में पेश करने के बाद जेल दाखिल करवा दिया गया है।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here