दो प्यार करने वालों के बीच भी कुछ कारणों से फासले आने लगते हैं। कई बार नोक-झोंक बढ़ जाती है। ऐसे में कुछ टिप्स आपकी मदद करेंगी।

1. समर्पण का भाव : समर्पण का मतलब अपने अहंकार का त्याग करना, जिसके समक्ष समर्पण किया है उसे कमियों के साथ स्वीकार करें। इससे पता चलता है कि आप एक-दूसरे को कितनी अहमियत देते हैं। समर्पण का मतलब यह भी नहीं कि आप उनके गलत व्यवहार को सहन करें।

2. भूलना सीखें : छोटी-छोटी बातों पर पार्टनर के साथ गुस्सा होने की जरूरत नहीं है, बल्कि छोटी बातों को भूलना सीखें। एक बार का गुस्सा और एक बार की हंसी आपके व्यवहार में बड़ा परिवर्तन लाते हैं। हंसी और मजाक से रिश्ते में हल्कापन महसूस होता है और समय के साथ मजबूती आती है।

3. अनबन नहीं : अपने रिश्ते में आई अनबन या किसी तरह की बात दूसरों के सामने न लाएं, इससे प्यार में दरार गहरी हो सकती है। इससे रिश्ते पर निगेटिव असर पड़ सकता है। झगड़े की वजह से बनी बनाई बात बिगड़ सकती है। आप जो चाहते हैं, झगड़े के दो शब्द वैसा होने से रोक देते हैं।

4. बुरे टाइम का साथ: जिंदगी में अच्छे-बुरे दिन तो आते-जाते ही रहते हैं। इसका मतलब यह नहीं कि आप बुरे वक्त में अपने पार्टनर को अकेला छोड़ दें। अगर वह तनाव की वजह से बात नहीं कर रहा है तो उस पर नाराज होने की बजाए बात को समझें और साथ दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here