रायपुर – छत्तीसगढ़ में अब तक संक्रमण के 2694 मामले सामने आ चुके हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसमें एक्टिव केस 629 हैं। जबकि 2062 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं। हालांकि मौतों का आंकड़ा 13 तक पहुंचने के बावजूद इसकी संख्या को लेकर स्वास्थ्य विभाग में असमंजस है !

प्रदेश में अब तक 2694 संक्रमित मिल चुके

  • राजनांदगांव में दो और रायपुर में एक की मौत कोरोना संक्रमण से हुई है। राजनांदगांव में संक्रमण से मरे पिता-पुत्र थे। प्रदेश की यह पहली घटना है, जिसमें एक परिवार के दो लोगों की मौत हुई है।
  • अब तक संक्रमण के 2694 मामले सामने आ चुके हैं। इसमेंं एक्टिव केस 629 हैं। जबकि 2062 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं। वहीं 9 लोगों की मौत हाे चुकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग कोरोना से सिर्फ 4 मौतें ही मानता है। 

स्वस्थ हुए 15 स्टाफ ने प्लाज्मा देने की जताई इच्छा
कोरोना से लड़कर स्वस्थ हुए एम्स के डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ ने प्लाज्मा देने की इच्छा जताई है। इस प्लाज्मा थेरेपी से भर्ती अन्य मरीजों का उपचार किया जाएगा। एम्स प्रबंधन ने बताया कि एेसे 15 डॉक्टर और चिकित्साकर्मी हैं, जो इसके लिए आगे आए हैं। इनसे प्लाज्मा लेने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। इससे पहले भी स्वस्थ हो चुके मरीजों का प्लाज्मा लिया जा चुका है। इसके लिए अनुमति भी ले ली गई है

एम्स प्रबंधन के मुताबिक 200 एमएल दो बार यानी 400 एमएल प्लाज्मा लिया जा चुका है। वर्तमान में 8-9 मरीज ऐसे हैं जिन्हें प्लाज्मा थेरेपी की जरूरत पड़ सकती है। इस थेरेपी में कोरोना से स्वस्थ्य हुए व्यक्ति का खून लेकर प्लाज्मा को अलग किया जाता है। इसके बाद थेरेपी के माध्यम से इसे बीमार व्यक्ति के शरीर मे डाला जाता है। यह कोशिकाओं में जाकर एंटीबॉडी डेवलप कर मरीज को ठीक करता है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना अपडेट
बिलासपुर : 
जिले में 1182 क्वारैंटाइन सेंटर प्रवासी मजदूरों के लिए बनाए गए हैं। यह सेंटर 15 जुलाई तक खाली हो पाएंगे। पहले इनके 15 जून तक खाली होने की उम्मीद जताई गई थी, लेकिन अफसर अब प्रवासी मजदूरों के 2 जुलाई तक आने की बात कह रहे हैं। जिले में सबसे अधिक मजदूर मस्तूरी जनपद में आए हैं। मस्तूरी में सबसे अधिक 574 क्वारैंटाइन सेंटर भी बनाए गए हैं। हालांकि अवधि पूरी करने वाले मजदूर सेंटर से अब जाने लगे हैं। 

भिलाई : बीएसपी अब विदेशों से आयात किए जाने वाले उपकरणों की पहचान कर स्थानीय एजेंसियों को टेंडर और ऑर्डर देगा। वर्तमान टेंडरों और आर्डरों की समाप्ति के बाद आयात को न्यूनतम करना है। संयंत्र के स्टील मेल्टिंग शॉप-2 एवं 3 के आरएच डिगैसर रिफ्रैक्टरी का आयात जो कि वर्तमान में 70% है, वहीं एसएमएस-2 एवं 3 की मार्जिंग रिफ्रैक्टरी का 50%, एसएमएस-3 की स्टील लैडल रिफ्रैक्टरी का आयात कम कर 155 करोड़ रुपए बचाया जाएगा।

रायगढ़ : शिक्षा विभाग ने पढ़ई तुंहर दुआर नामक पोर्टल बनाकर ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कराई। इससे एक हजार से अधिक शिक्षक जुड़ चुके हैं। प्रशासन केबल के जरिए वर्चुअल क्लास का लाइव प्रसारण भी कर रहा है। अब सरकारी स्कूल के कुछ जागरूक शिक्षक ऑनलाइन क्लासेस के साथ यूट्यूब, फेसबुक पर प्रमुख विषयों की वीडियो सीरिज बनाकर अपलोड कर रहे हैं। जिले में ऑनलाइन क्लासेस में 18 हजार स्टूडेंट्स जुड़ रहे हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here