अंबिकापुर । सीतापुर थाना क्षेत्र के एक गांव में पांच दिन से लापता बालिका की कुएं में संदिग्ध परिस्थितियों में लाश मिलने के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। पड़ोस में ही रहने वाले अपचारी बालक ने दुष्कर्म की कोशिश के दौरान बालिका द्वारा शोर मचाए जाने पर मुंह व गला दबाकर हत्या कर दी थी। हत्या के बाद शव के साथ अपचारी बालक ने दुष्कर्म किया था। मामले में पुलिस ने अपचारी बालक को बाल संप्रेषण गृह में दाखिल करा दिया है।

सीतापुर थाना क्षेत्र के एक गांव में बीते 16 मार्च की सुबह छह वर्षीय बालिका की संदिग्ध परिस्थितियों में कुएं में लाश मिली थी। प्रथम दृष्टया ही मामला हत्या का प्रतीत हो रहा था। पुलिस ने जब मामले की छानबीन शुरू की तो पता चला कि मृतका बीते 11 मार्च की दोपहर मोबाइल लेकर घर से निकली थी। अंतिम बार उसे घर के नजदीक खेलते हुए देखा गया था।

रहस्यमय ढंग से उसके लापता हो जाने और पांच दिन बाद शव मिलने की घटना में आसपास के किसी शख्स का ही हाथ होने का संदेह पुलिस को था। पड़ोस में रहने वाले एक अपचारी बालक की गतिविधियां पुलिस को संदिग्ध लगी, जब उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसने सारा जुर्म कबूल कर लिया।

शव के साथ दुष्कर्म

पुलिस ने बताया कि घटना दिवस को अपचारी बालक के माता-पिता अंबिकापुर गए हुए थे। बहन दुकान में थी। बालिका को अकेला देख अपचारी बालक ने झांसा देकर उसे अपने घर बुलाया। घर में उसने बालिका के साथ दुष्कर्म की कोशिश की। बालिका ने चिल्लाना शुरू किया तो अपचारी बालक ने मुंह व गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। अपचारी बालक ने शव के साथ दुष्कर्म किया और बाद में घर के एक कोने में शव को छिपा दिया था।

इसलिए गहराया संदेह

सीतापुर थाना प्रभारी अनूप एक्का ने बताया कि बालिका घर के सामने से लापता हुई थी। वहां लोगों की आवाजाही भी कम है। बाहर के किसी व्यक्ति का वारदात में शामिल होने का संदेह नहीं था। पास-पड़ोस के लोगों पर ही संदेह जा रहा था। अपचारी बालक की गतिविधियां घटना के बाद से ही संदिग्ध नजर आ रही थी। इसी आधार पर उससे पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here