Chhattisgarh Jagdalpur Raipur

बस्तर की काली मिर्च के स्वाद के दीवाने हो रहे लोग, देशभर में बढा रही जायका

रायपुर. यूं तो मसालों के लिये दक्षिण भारत को अव्वल माना जाता है पर पिछले करीब 15- 17 वर्षों से बैंक मैनेजर की नौकरी छोड हर्बल जडी बूटियों की खेती में किस्मत आजमाने वाले डाॅ राजा राम त्रिपाठी ने काली मिर्च की खेती मेें भी बेहतर कामयाबी हासिल की है। उनके कोण्डागांव चिखलपुटी स्थित मां दन्तेष्वरी हर्बल फार्म पर भारतीय कृषि एंव खाद्य परिषद नयी दिल्ली के चेयर मैन डाॅ एम जे खान पहुंचे और उन्होने वहां काली मिर्च की लताओं में लटक रही काली मिर्च का स्वाद जाने काली मिर्च का एक दाना मुंह में डाल लिया। बेहतरी सुगंध व स्वाद चख कर उनके मुंह से वाह निकल गया।

डाॅ एमजे खान ने बताया कि विगत दिनों उन्होने एक विष्वस्तरीय मसाला मेला में षिरकत की थी जिसमें दुनियाभर से लायी गयी काली मिर्च का स्वाद उन्होने लिया पर बस्तर की काली मिर्च का स्वाद व सुंगध सबसे बेहतर निकली। इससे एक दिन पूर्व श्री खान ने छग शासन के कृषि उत्पादन आयुक्त अजय सिंह , सहित छग कृषि व उद्यान विभाग के उच्चाधिकारियों की महती बैठक रायपुर के महानदी भवन में ली थी। इसके बाद वे एक दिन के प्रवास पर कोण्डागांव पहुचे थे।

10 लाख स्टीविया देख गदगद हुये चेयनमैन –
भारतीय कृषि एंव खाद्य परिषद के चेयन मैन डाॅ एमजे खान ने जब मां दतेष्वरी हर्बल फार्म पर स्टीविया के 10 लाख पौधों को देखा तो वे प्रसन्नता से खिल उठे और उन्होने कहा कि यह संम्भवतः स्टीविया की भारत में सबसे बडी खेती है। उन्होनें बस्तर में मां दंतेष्वरी हर्बल फार्म पर विकसित की गयी काली मिर्च की नयी किस्में एमडीबी 16 व 17 और स्टीविया की एमडीएस 13 व 14 भी देखी और सराही।

100 उन्नत किसानों ने की भेंट –
इस मौके पर फार्म पर पहुचे सीमावर्ती प्रांत उडीसा व बस्तर के गा्रमीण क्षेत्रों के लगभग 100 किसानों ने डाॅ खान ने भेंट की। ये सभी जैविक खेती देखने व सीखने कोण्डागांव पहुचे थे। डाॅ खान ने हर्बल फार्म पर 52 तरह की विलुप्त प्राय जडी बूटियों को भी फार्म पर पनपते व फलते फूलते देखा।

किया सम्मान पिलायी गयी हर्बल टी –
इस मौके पर डाॅ खान का सम्मान शॅाल श्रीफल से किया गया। और साहित्यक पत्रिका ककसाड का नया अंक भेंट किया गया। हर्बल फार्म पर हर्बल टी भी पिलायी गयी। फार्म की ओर उन्हे कालीमिर्च का सैम्पल, हर्बल टी का सैम्पल भी दिया गया।

बस्तर में को भी मिले जिला कृषि परिषद –
मौके पर मौजूद डाॅ राजाराम त्रिपाठी व हर्बल किसानों ने डाॅ खान से उत्तर प्रदेष के लखमीपुर खीरी की तरह कोण्डागांव में भी भरतीय कृषि एंव खाद्य परिषद की ओर जिला कृषि परिषद के गठन की मांग की। जिस उन्हे आष्वासन दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *