India

भाजपा ने जीता गुजरात, हिमाचल हार गई कांग्रेस

To lookगांधीनगर: गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में आज सत्तारूढ़ भाजपा ने लगातार छठी जीत हासिल कर विजय का छक्का लगाया है। 182 सदस्यीय विधानसभा में पिछले 22 साल से सत्तारूढ़ भाजपा को इस बार 92 के सामान्य बहुमत से सात अधिक यानी 99, कांग्रेस को 77, इसकी सहयोगी भारतीय ट्राइबल पार्टी को दो, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को एक और तीन निर्दलियों को जीत हासिल हुई है।

2012 में भाजपा ने जीती थी 115 सीटें
2012 के पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 115, कांग्रेस ने 61, राकांपा और केशुभाई पटेल की गुजरात परिवर्तन पार्टी (जिसका बाद में भाजपा में विलय हो गया था) ने दो और जदयू तथा निर्दलीय ने एक-एक सीटें जीती थीं। इस तरह इस बार भाजपा को कुल मिला कर पिछली बार की तुलना में 16 सीटों का नुकसान हुआ है जबकि कांग्रेस इतनी ही सीटों का फायदा हुआ है। भाजपा ने शहरी क्षेत्रों में दबदबा बरकरार रखा है जबकि कांग्रेस ने ग्रामीण क्षेत्रों में अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन किया है। क्षेत्रवार सौराष्ट्र की 48 सीटों में से भाजपा ने पिछली बार के 29 की तुलना में मात्र 19 सीटें जीती हैं।

कांग्रेस ने 16 की जगह 28 सीटें जीती हैं। दक्षिण गुजरात की 35 सीटों में भाजपा और कांग्रेस ने क्रमश: 25 और 8 सीटें जीती हैं। पिछली बार यह संख्या 28 और छह थी। कच्छ की छह में से भाजपा ने इस बार चार और कांग्रेस ने दो सीटें जीती हैं। पिछली बार यह संख्या पांच और एक थी। मध्य गुजरात में भाजपा ने 22 और कांग्रेस ने 17 सीटें जीती हैं। पिछली बार यह संख्या 20 और 18 थी। उत्तर गुजरात में पिछली बार क्रमश: 15 और 17 सीटें जीतने वाली भाजपा और कांग्रेस ने इस बार 15 और 16 सीटें जीती हैं। एक सीट कांग्रेस समर्थित निर्दलीय जिग्नेश मेवाणी ने जीती है।

कांग्रेस के भी कई दिग्गज हुए धराशायी
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी समेत, गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा, शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र चूडासमा समेत कई बड़े नेता हालांकि चुनाव जीत गए हैं पर कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं पूर्व अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल, अर्जुन मोढवाडिया और राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल और कई मंत्रियों समेत अनेक दिग्गज धराशायी भी हो गए हैं। इनमें स्वास्थ्य राज्य मंत्री शंकर चौधरी, कैबिनेट मंत्री आत्मराम परमार, विधानसभा अध्यक्ष रमनलाल वोरा शामिल हैं। भाजपा की ओर से उतरे फिल्म अभिनेता हितू कनोडिया जीत गए हैं। कांग्रेस की ओर से चुनाव लडऩे वाले ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर भी जीते हैं जबकि पार्टी के समर्थन से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे जिग्नेश मेवाणी भी जीत गए हैं।

शहरी सीटों पर भाजपा का कब्जा बरकरार
सबसे अधिक अंतर से इस बार भी अहमदाबाद की घाटलोडिया सीट पर भाजपा ने जीत दर्ज की। पिछली बार पूर्व मुख्यमंंत्री आनंदीबेन पटेल की इस सीट पर इस बार भाजपा के प्रत्याशी रहे भूपेन्द्र पटेल ने 117750 मतों से जीत हासिल की। सबसे कम अंतर से कांग्रेस के जीतूभाई चौधरी ने कपराडा में 170 मतों से जीत हासिल की। प्रमुख शहरों में भाजपा ने बेहतर प्रदर्शन किया। अहमदाबाद की 21 में 17, वडोदरा की आठ में से 6, सूरत की 16 में से 15 तथा राजकोट शहर की चार में चारों सीटों पर इसे जीत हासिल हुई। सौराष्ट्र के पाटीदार बहुल मोरबी, अमरेली के अलावा सुरेन्द्रनगर, गिर सोमनाथ, जूनागढ़ आदि में इसका एक तरह से सफाया हो गया पर पाटीदारों का गढ़ समझे जाने वाले महेसाणा, सूरत, अहमदाबाद के पूर्वी हिस्से और कई अन्य स्थानों पर भाजपा ने बेहतर प्रदर्शन किया जिससे पास नेता हार्दिक पटेल के चुनाव पर असर को लेकर अलग अलग राय बनी है।

गुजरात चुनाव के नतीजे

 

पार्टी सीट
भाजपा 99
कांग्रेस 80
अन्य 03

राहुल ने दिखाया दम
राहुल ने गुजरात में भारतीय जनता पार्टी को कड़ी टक्कर देकर दिखा दिया है कि उसमें और उसके नव निर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी में प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के करिश्मे को चुनौती देने की पूरी क्षमता है। गुजरात में मोदी के करिश्मे के सामने कांग्रेस बौनी साबित हो रही थी और पिछले डेढ़ दशक में वह कभी भी 61 सीट से आगे नहीं बढ़ पाई और भाजपा हमेशा सौ से ऊपर ही रहती थी। इस चुनाव में राहुल गांधी और उनके सहयोगियों ने राज्य में जमकर प्रचार किया और जनता का विश्वास जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। इससे भाजपा बहुमत भले ही हासिल कर गई हो लेकिन उसे सौ का आंकड़ा छूने के लाले पड़ गए।   संसदीय बोर्ड की बैठक में होगा सरकार गठन पर विचार 
दोनों राज्यों में सरकारों के गठन और विधानमंडल दल के नेता के चुनाव पर विचार के लिए आज शाम पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी भाजपा मुख्यालय पहुंच गए हैं जहां सुबह से जश्न मना रहे भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके भव्य स्वागत किया। संसदीय बोर्ड में मोदी, शाह, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, अरुण जेटली, अनंत कुमार, जे पी नड्डा, थावरचंद गहलोत तथा भाजपा के संगठन महासचिव रामलाल शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *