Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 24 मार्च 17 दुनियाभर में हिटलर और जनरल डायर को क्रूरता का पर्याय माना जाता है। जब भी कोई शासक अत्याचार करता है तो इन दोनों से उसकी तुलना करने में पलभर की देरी नहीं की जाती है। राज्य सरकार और उसके नौकरशाह कितने क्रूर […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

 इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 22 मार्च 17 विधानसभा के सत्र बेहद महत्वपूर्ण होते हैं और इनमें भी सर्वाधिक महत्वपूर्ण बजट सत्र होता है क्योंकि इस सत्र में ही विभागों को अगले साल के लिए राशि मिलती है। विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले सभी सरकारी मुलाजिमों की छुट्टियां निरस्त […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 22 मार्च 17 दो रोज पहले हुई कैबिनेट की बैठक में मंत्री पाण्डेय के प्रवचन से सरकार की चूलें हिलने लगी हैं। मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने जिस तरह के तेवर दिखाए, उसको देखकर शराब बेचने की रणनीति बनाने वाले बंगले झांकने लगे हैं और सरकर […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 7 मार्च 17 तिहाड़ जेल की सख्त जमीन पर दरी बिछाकर सोने वाले दर्द का एहसास आईएएस अफसर बाबूलाल अग्रवाल  को है अथवा नहीं, यह तो वही बता सकते हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ की मीडिया इस बात को जानकर दर्द से तड़प रही है। इस तरह […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 6 मार्च 17 तरकश से बाण निकल चुका है, प्रत्यांचा चढ़ चुकी है और निशाना भी तय है बस प्रत्यांचा छोडऩे की देरी है। इस तस्वीर से यह साबित हो रहा है कि प्रदेश भाजपा में आगे चलकर सब-कुछ ठीक नहीं होने वाला है। राजनीति […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 4 मार्च 17 इसमें कोई दो मत नहीं कि छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश भाजपा की राजनातिक में बृजमोहन अग्रवाल की एक हैसियत है लेकिन जब उनके विभागों (जल संसाधन व कृषि) की चर्चा होती है तो खासकर सत्ता पक्ष के कुछ लोग मुंह-कान बनाने लगते हैं। […]

Chokhelal

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 3 मार्च 17 छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार को एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट और मानव अधिकार आयोग से फटकार सुनने के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि सुकमा एसपी इंदिरा कल्याण एलेसेला ने सामाजिक कार्यकर्ताओं के लिए जिस भाषा का इस्तेमाल किया है, वह घोर आपत्तिजनक […]

Chokhelal Uncategorized

मुखिया के मुखारी

इंडिया राइटर्स (मासिक पत्रिका) की प्रस्तुति                 २ मार्च 17       विधानसभा चुनाव से डेढ़ साल पहले अफसरों ने जिस तरह से आंखें तरेरना शुरू किया है, उसके संकेत मुख्यमंत्री और प्रदेश की भाजपा सरकार को अच्छी तरह समझ लेना चाहिए। प्रदेश में उस राजनीतिक दल […]