Class
India

CBSE ने बदला परीक्षा पैटर्न, मॉडल पेपर जारी

नई दिल्ली: CBSE ने 12वीं के परीक्षा पैटर्न और मार्क्स स्कीम को लेकर अहम फैसला किया हैं। बोर्ड ने एक मॉडल पेपर जारी करते हुए नए पैटर्न को समझाने का प्रयास किया है। सीबीएसई ने आगामी 2018 बोर्ड परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी है। जहां मार्च में परीक्षा लेने की तैयारी चल रही है सीबीएसई ने 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए इस बार अक्टूबर में ही मॉडल प्रश्न-पत्र वेबसाइट पर अपलोड कर दिए हैं। 2009 के बाद सीबीएसई ने 12वीं के परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया है। मल्टीपल च्वाइस के प्रश्नों को हटा दिया गया है।अब शॉर्ट और लांग प्रश्न होंगे। पहले वैकल्पिक और संख्यात्मक सवाल पूछे जाते थे।

अब सवालों के जवाब निर्धारित शब्दों में लिखने होंगे। इसके अलावा मार्किंग स्कीम की भी जानकारी विद्यार्थी प्रश्नपत्र के माध्यम से ले पायेंगे।बदले हुए पैटर्न की जानकारी छात्रों को एक महीने पहले ही सीबीएसई ने दी है। हर साल नवंबर के अंतिम सप्ताह में बोर्ड मॉडल प्रश्नपत्र जारी करता था। लेकिन इस बार अक्टूबर में ही छात्रों को दे दिया गया है। बोर्ड के बदले हुए परीक्षा पैटर्न की जानकारी विद्यार्थी वेबसाइट www.cbseacademic.in पर देखकर तैयारी कर सकते हैं, जहां से मार्किंग स्कीम की भी जानकारी विद्यार्थी प्रश्न-पत्र से ले सकेंगे। मॉडल प्रश्नपत्र के साथ बोर्ड ने मार्किंम स्कीम की भी जानकारी विद्यार्थियों को दी है। इससे किस प्रश्न पर कितने अंक होंगे, इसकी जानकारी विद्यार्थियों को मिल जायेगी। छात्रों को प्रश्नपत्र में कोई दिक्कत न हो, वे अच्छी तरह तैयारी कर सकें, इसलिए नवंबर के बदले अक्टूबर में ही मॉडल प्रश्नपत्र जारी किया गया है। इससे बदले हुए पैटर्न की जानकारी छात्रों को एक महीने पहले ही सीबीएसई ने दी है, 12वीं में विद्यार्थी अधिक से अधिक स्कूल की पढ़ाई से जुड़ें, कांसेप्ट क्लियर हो, इसके लिए 12वीं के पैटर्न में बदलाव किया गया है। प्रश्नपत्र में सब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या अधिक की गयी है।

प्रश्नपत्र में ये होगा बदलाव
– तीन घंटे की परीक्षा होगी
– एक अंक के सात प्रश्न होंगे। हर प्रश्न का उत्तर 30 से 40 शब्दों में देना होगा
– दो पैटर्न पर प्रश्न रहेंगे। शॉर्ट और लांग
– हर प्रश्न का जवाब देना अनिवार्य होगा
– मल्टीपल च्वाइस के प्रश्न को हटा दिया गया है
– कुछ विषयों में पांच तो कुछ विषयों में आठ अंक के भी प्रश्न पूछे गये हैं
– आठ अंक के प्रश्नों को पहली बार जोड़ा गया है। इसका उत्तर 350 शब्दों में देना होगा।

मार्किंग स्कीम की मिलेगी जानकारी
मॉडल प्रश्नपत्र के साथ बोर्ड ने मार्किंम स्कीम की भी जानकारी विद्यार्थियों को दी है। इससे किस प्रश्न पर कितने अंक होंगे, इसकी जानकारी विद्यार्थियों को मिल जायेगी। शिक्षाविद व प्राचार्य आरएस पाण्डेय की मानें तो सैंपल प्रश्न पत्र मिलने से विद्यार्थी अपनी तैयारी उसी के अनुसार कर पाएंगे। इस मॉडल प्रश्न पत्र की तैयारी का फायदा छात्रों को सेटअप परीक्षा में भी होगा। दिसंबर में सेटअप परीक्षा होने के पहले छात्र प्रश्नपत्र से तैयारी कर पाएंगे।मॉडल प्रश्नपत्र मिलने से विद्यार्थी अपनी तैयारी उसी के अनुसार कर पायेंगे। बोर्ड ने अपनी वेबसाइट पर मॉडल प्रश्नपत्र डाल दिया है। इससे विद्यार्थी अपनी तैयारी पहले से कर पायेंगे। इस मॉडल प्रश्नपत्र की तैयारी का फायदा छात्रों को सेंटअप परीक्षा में भी होगा। दिसंबर मे सेंटअप परीक्षा होने के पहले विद्यार्थी प्रश्नपत्र से तैयारी कर पायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *