Chhattisgarh Raipur

जमीन विवाद पर PCC चीफ को बीजेपी ने पद से हटाने की मांग की वहीँ कांग्रेस में भी विरोधी सक्रिय

रायपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के छत्तीसगढ़ प्रवास से ठीक पहले पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल की जमीन विवाद में घेराबंदी तेज हो गई है। बीजेपी ने अदालत के फैसले के बाद राहुल गांधी से भूपेश को हटाने की मांग की है। कांग्रेस में भूपेश विरोधी भी सक्रिय हो गए हैं और पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं को वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया गया है। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से भी असंतुष्ट नेताओं मुलाकात की खबरें आ रही है।

उल्लेखनीय है कि भूपेश बघेल और उनके परिवार पर सरकारी जमीन पर कब्जे के आरोप लगे थे। जोगी कांग्रेस के नेताओं ने इसकी सरकार से भी शिकायत की थी। शिकायत पर भूपेश के गांव कुरूदडीह में जमीन के नाप जोख भी हुए थे। कुरूदडीह में ही भूपेश के पिता नंदकुमार बघेल के कब्जे वाली करीब 20 एकड़ जमीन पर दुर्ग कोर्ट ने मंगलवार को फैसला सुनाया है। इसमे परिवादी नंदकुमार बघेल ही थी, उन्होंने दावा किया था कि राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज सरकारी जमीन उनकी पैतृक संपत्ति है, लेकिन अदालत में वे इसे साबित नहीं कर पाए। कोर्ट ने उनके परिवाद को खारिज कर दिया है।

कोर्ट के आदेश से इस बात की पुष्टि हो गई है कि उनका सरकारी जमीन पर कब्जा है। जोगी कांग्रेस के नेताओं ने भी यही आरोप लगाए थे कि बघेल और उनके परिवार के लोगों ने सरकारी जमीन पर कब्जा किया है। कोर्ट के आदेश के बाद भाजपा विधायक और प्रवक्ता शिवरतन शर्मा ने कहा है कि भूपेश बघेल के परिजन उनके द्वारा बताई जा रही भूमि पर अपना मालिकाना हक़ साबित करने में असफल रहे हैं अत: सरकारी ज़मीन को उनके क़ब्ज़े से मुक्त कराने की कार्रवाई की जाए। उन्होंने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी से कहा है कि वे इस मामले का संज्ञान लेकर भूपेश बघेल को पद से हटाने की कार्रवाई करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *