Chhattisgarh Rajnandgaon

राजनांदगांव में सीएम बोले- जल्द शुरू होगी सामूहिक नल-जल योजना, शिवनाथ नदी से 50 गांवों को मिलेगा पीने का पानी

राजनांदगांव:  धीरी, ईरा तथा खुटेरी जैसे 50 गाँवों में पेयजल तथा निस्तारी के लिए पानी की समस्या का स्थायी निदान हो इसके लिए समूह नलजल योजना राज्य सरकार ने बनाई। अब शिवनाथ से पानी इन गाँवों में पहुँचेगा और गर्मी में पेयजल की समस्या का स्थायी हल हो जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने धीरी, ईरा तथा खुटेरी गाँवों में हुई जनसभाओं में कही। 

उन्होंने कहा कि ग्रामीणजनों के आवेदनों पर सरकार तत्काल कार्रवाई करती है और सबसे ज्यादा जोर स्थायी समाधान पर होता है। समूह नलजल योजना से इन गाँवों की पेयजल और निस्तारी की समस्या जल्द ही हल हो जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायतों को सशक्त बनाने, उन्हें सीधे मंत्रालय से जोड़ा जाएगा। इसके लिए 1600 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। छत्तीसगढ़ के छह हजार गाँव इससे जुड़ जाएंगे। मुख्यमंत्री यदि सीधे खुटेरी की जनता से बात करना चाहें तो पंचायत भवन में वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़कर बात कर सकते हैं। 

ग्राम सभा का मंत्रालय से होगा सीधे संबंध
यह सूचना प्रौद्योगिकी का कमाल है जिसे छत्तीसगढ़ में अपनाया जा रहा है। इसी तरह स्काई योजना के माध्यम से पचास लाख लोगों को स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। इन दोनों योजनाओं को देखें, भविष्य में तरक्की सूचना प्रौद्योगिकी को अपनाने और इसका अधिकतम लाभ उठाने में है। इन दोनों योजनाओं के माध्यम से पंचायत अधिक सशक्त होगी। ई-गवर्नेंस का आप अधिकतम लाभ उठा पाएंगे। 
इस मौके पर मुख्यमंत्री से ग्रामवासियों ने ग्रामीण विकास से संबंधित कुछ माँगे भी रखी जिन्हें मुख्यमंत्री ने मौके पर ही पूरा कर दिया। 
सांसद अभिषेक सिंह ने इस अवसर पर ग्रामीणों से कहा कि नव वर्ष के पहले दिन मुख्यमंत्री ने राजनांदगांव विधानसभा के ग्रामीणों के साथ बिताने का निश्चय किया। सरकार हर कदम आपके साथ खड़ी है। गाँव की बेहतरी के लिए जो भी सुझाव आएंगे, उन पर अमल किया जाएगा। 
धीरी में सांसद ने कहा कि धीरी तक आने के दौरान मैंने मुख्यमंत्री से चर्चा की और उन्हें अवगत कराया कि सांकरा से धीरी तक की सड़क आपके कार्यकाल में स्वीकृत हुई। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से विकास हो रहा है। लोग आगे बढ़ रहे हैं। घर-घर बिजली पहुँच रही है। शासन जनकल्याण के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। 
इस मौके पर नागरिक आपूर्ति निगम के पूर्व अध्यक्ष लीलाराम भोजवानी, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष सचिन बघेल, राजगामी संपदा न्यास के पूर्व अध्यक्ष संतोष अग्रवाल, राज्य महिला आयोग की सदस्य रेखा मेश्राम, जनपद अध्यक्ष सरिता कन्नौजे, जिला पंचायत सदस्य मधु सुकृत साहू, अपर कलेक्टर जे.के. धु्रव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 तीनों गाँवों में करोड़ों रुपए के विकास कार्य स्वीकृत, लोकार्पित 

मुख्यमंत्री ने धीरी में एक करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण, शिलान्यास तथा घोषणा की। उन्होंने 72 लाख रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण किया। इसमें 52 लाख रुपए का हाईस्कूल भवन, 6.40 लाख रुपए का आंगनबाड़ी भवन, सामुदायिक भवन और अन्य कार्यों का लोकार्पण किया। साथ ही उन्होंने ग्रामीणों की माँग पर 15 लाख रुपए के मंगल भवन की घोषणा की। 
ईरा में 40 लाख रुपए के कार्यों का लोकार्पण किया। उन्होंने ग्रामीणों की माँग पर भर्रीखार में नये ट्रांसफार्मर की घोषणा की। साथ ही अटल समरसता भवन के लिए 10 लाख रुपए की घोषणा की। साथ ही तालाब सौंदर्यीकरण की घोषणा भी की। 
खुटेरी में 32 लाख रुपए के कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर गौठान कांक्रीटीकरण के लिए 15 लाख रुपए, सीसी रोड के लिए 2.30 लाख रुपए तथा सोनकर समाज के बन रहे भवन के लिए 2 लाख रुपए स्वीकृत करने की घोषणा की।
इन गाँवों में उन्होंने बुजुर्गों का सम्मान किया तथा महिला कमांडो को भी सम्मानित किया। इस दौरान मुख्यमंत्री तथा अतिथियों ने सांसद सेवा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसमें मरीजों को इलाज के लिए अस्पताल तक पहुँचाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *