Chhattisgarh Raipur

भाजपा-कांग्रेस के बीच दलित वार, शाह ने दिए दलितों को साधने के निर्देश

रायपुर: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दलितों को साधने वाले निर्देश के बाद छत्तीसगढ़ बीजेपी में भी हलचल मच गई है. हालांकि छत्तीसगढ़ में 10 एससी की सीटें हैं और इनमें से 9 भाजपा के पास जबकि एक मात्र सीट कांग्रेस के पास है. पिछले दिनों एससी एसटी एक्ट में बदलाव के बाद पार्टी पर दलितों का गुस्सा साफ देखा गया था. प्रदेश भाजपा प्रवक्ता केदार गुप्ता का कहना है कि छत्तीसगढ़ में कोई दिक्कत वाली बात नहीं है क्योंकि एससी सीटों में बहुमत का साफ मतलब है कि यहां दलित वर्ग सरकार के काम से खुश हैं.

गुप्ता के बयान का पलटवार करते हुए छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रवक्ता एमए इकबाल ने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में हमेशा अंतर रहा है. उन्होंने कहा कि अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ही गुजरात से हैं और वहां दलितों पर हो रहा उत्पीड़न किसी से छुपा नहीं है. भाजपा इस बात से अवगत है कि दलित वर्ग उनसे नाराज है और इसी का नतीजा है कि अमित शाह दलितों को साधने के निर्देश दे रहे हैं.

भाजपा और कांग्रेस के दलित वार के बीच राजनीतिक विश्लेषक हिमांशु द्विवेदी का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकार की लंबी चुप्पी से भारतीय जनता पार्टी को जो नुकसान हुआ है पार्टी उसी नुकसान की भरपाई करने में जुटी है. अब भाजपा के सामने सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी एसटी एक्ट में बदलाव से नाराज दलितों को साधने के लिए अमित शाह का यह बयान चुनौतीपूर्ण होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *