Chhattisgarh

पत्थरबाजी कांड पर भाजपा पर बरसे धनेन्द्र-सत्यनारायण

रायपुर , राजधानी में पत्थरबाजी कांड के बाद गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता धनेन्द्र साहू और सत्यनारायण शर्मा भाजपा पर जमकर बरसे। इस संबंध में आज पत्रकारवार्ता भी हुई। पत्रकारवार्ता में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष धनेन्द्र साहू ने कहा कि कांग्रेस ने नोटबंदी के असफलताओं के एक साल पूरे होने पर देश भर में काला दिवस मनाने का निर्णय लिया था। कांग्रेस के आंदोलन के खिलाफ भाजपा ने एंटी कालाधन दिवस मनाना तय किया। गुढिय़ारी में मंत्री समर्थकों ने एंटी कालाधन दिवस मनाने के बजाय कांग्रेस के कार्यक्रम में पथराव किया। विपक्षी दल के काला दिवस कार्यक्रम में मंत्रियों की पोल न खुले इस कारण जनता का ध्यान हटाने व्यवधान उत्पन्न किया।
पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुये विधायक सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि, नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर कांग्रेस पार्टी के देश भर में 8 नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर प्रदेश के 199 ब्लॉकों में काला दिवस का आयोजन किया गया। इसी कड़ी में पहाड़ी चौक गुढिय़ारी और राजीव गांधी चौक में काला दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जाना पूर्व निर्धारित था, जिसकी सूचना प्रशासन को थी। रायपुर में काला दिवस के कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता और प्रदेश के शीर्ष नेता शामिल होंगे, इसकी भी जानकारी प्रशासन को थी। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. चरणदास महंत, पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा के पहुंचते ही भाजपाईयों ने मंच में मौजूद नेताओं को घायल करने मंच की ओर ईंट, पत्थर फेंके। पहाड़ी चौक में काला दिवस का कार्यक्रम शुरू होते ही भारतीय जनता पार्टी के नेता कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू किया, चुडिय़ा फेंकी उस दौरान वहां मौजूद पुलिस के आला अधिकारी तमाशाबिन बने खड़े रहे, उसके बाद जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मंच में पहुंचे उन्हें काला झंडा दिखाया गया, कालिख फेकी गई, ईट-पत्थर बरसाये गये, इस दौरान करीब 4 घंटे तक एकता नगर जाने के मुख्य मार्ग को भाजपाईयों ने चक्का जाम कर अवरूद्ध उत्पन्न किया था, फिर भी पुलिस कार्यवाही करने के बजाये मौन खड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *