Chhattisgarh madhyapradesh

आफत- सरकारी राशन दुकान से विदेशी युवतियों के बॉयोडाटा का वितरण, घर बसाने सरकारी मदद!

कुकदुर। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत शासकीय उचित मूल्य दुकानों से विदेशी युवतियों के वितरण की योजना से छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में विवाहित महिलाएं डरी हुई हैं। महिलाओं को यह आशंका है कि कहीं इन विदेशी युवतियों के लिए उनके पति छोड़ न दें। यह बात सुनने में यकीन करने लायक नही है पर इस समय आदिवासी बाहुल्य इलाकों में खाद्य विभाग के अधिकारियों के लिए मुसीबत बनी हुई है।

महिलाओं ने कहा राशन कार्ड नही चाहिए

सोशल मीडिया में इस समय एक वायरल संदेश और वीडियों ने गरीब महिलाओं की नींद उड़ा दी है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत चलने वाली दुकानों में विदेशी युवतियों के बॉयोडाटा रखे जाने और उनके घर बसाने में सरकारी सहयोग की बात कही जा रही है। यह देख महिलाएं अब राशन कार्ड का उपयोग करने से भी डर रही हैं और खुद को गरीबी से बाहर करने के लिए अर्जी लगा रही हैं।

सेल्समैन परेशान हैं

दुकानों के विक्रेता युवती वितरण की जानकारी देते देते थक गए हैं। लोग युवतियों की जानकारी के लिए दिन रात सेल्समैन से पूछताछ करते रहते हैं। इस बीच विक्रेता ऐसी किसी भी योजना की बात को नकारते हुये लोगों को अफवाहों में न पडऩे की समझाईश भी दे रहे हैं लेकिन यह एक टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

जागरूकता के लिए मुनादी करवाएंगे

पूरे मसले पर अधिकारियों ने राशन दुकानों के बाहर अफवाह के विरूद्ध लोगों को जागरूक करने सूचना चस्पा करने व ग्रामीण क्षेत्रों में मुनादी कराने का मन बना लिया है। यह चर्चा अब मध्यप्रदेश से निकलकर छत्तीसगढ़ की सीमा पार कर चुकी है। कवर्धा और पेंड्रा के आदिवासी इलाकों में लोग इस बात को लेकर हैरान हैं । वही राशन दुकानों में उहापोह की स्थिति बनी हुई है।

यह है अफवाह
जिले में जंगल की आग की तरह फैल चुकी अफवाह के मुताबिक लोगों में सुगबुगाहट है। पूरे मसले पर जहां पुरूष चुटकी ले रहे हैं वही महिलाएं गुस्से से तमतमाई हुई हैं, इस बीच परिवारों में झगड़े की नौबत भी आ रही है। सबसे ज्यादा परेशानी विक्रेताओं को झेलनी पड़ रही हैं जो महिलाओं के गुस्से का शिकार हो रहे हैं और पुरूषों की पूछताछ से हलाकान है।

इनका कहना है

जिले में राशन दुकान से विदेशी युवतीयों के वितरण की अफवाह से समूचा अमला हलाकान है। लोग सेल्समेन के पास पहुंचकर इस बावत बेतुकी जानकारी मांग रहे हैं जिससे सेल्समेन परेशान है और व्यवस्था पर भी विपरीत असर पड़ रहा है।
आरएन सिंह, जिला आपूर्ति अधिकारी खाद्य विभाग डिंडोरी

इस बावत सेल्समैनों से जानकारी प्राप्त हुई है। लोगों को अफवाहों में न पडऩे हेतु जागरूक करने के लिये दुकानों के बाहर नोटिस चस्पा करने के साथ ही गावों में मुनादी भी करवाई जावेगी जिससे लोगों का भ्रम दूर हो सके।
जीपी झारिया, प्रबंधक जिला सहकारी मर्यादित केंद्रीय बैंक डिंडोरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *