Ambikapur Chhattisgarh India

गजराज की दहशत में ग्रामीण, कैम्प में दिन गुजारने मजबूर

अम्बिकापुर.  हाथी की आहट से बचने के लिए ग्रामीणों को अपना घर छोड़कर कैम्प में बसेरा बसाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने ग्रामीणों को पहाड़ी पर स्थित घटोन ग्राम के घरों को छोड़कर पटकुरा में रहने को सुरक्षा की दृष्टि से उपयुक्त बताया। गौरतलब है कि इसी वर्ष पूर्व में भी हाथियों का दल इस ग्राम में पहुँचकर घरों को नुकसान पहुँचा चुका है।

जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती फुलेष्वरी सिंह, लुण्ड्रा विधायक चिंतामणी महाराज एवं कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल आज लखनपुर विकासखण्ड अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत पटकुरा के हाथी प्रभावित ग्राम घटोन पहुँचे। इस दौरान वे प्रभावितों से मिले एवं हाथियों द्वारा किए गए नुकसान की जानकारी प्राप्त की।

उन्होंने सुरक्षा को दृष्टिगत रखकर हाथी प्रभावित ग्रामीणों को पटकुरा ग्राम पंचायत के विद्यालय भवन एवं आंगनबाड़ी केन्द्र में बनाए गए कैम्प में रहने की समझाईश दी। कलेक्टर ने प्रभावितों को शीघ्र मुआवजा प्रदान करने के निर्देष दिए। मौके पर उपस्थित वनमण्डलाधिकारी श्रीमती प्रियंका पाण्डेय ने बताया कि प्रभावितों को शीघ्र मुआवजा प्रदान कर दिया जाएगा।

मैनपाट के रास्ते से पहुँचे घटोन
लखनपुर जनपद अंतर्गत आने वाले ग्राम घटोन तक पहुँचने का रास्ता अत्यंत दुर्गम है। आज जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मैनपाट की ओर से लगभग ढ़ाई किलोमीटर दुर्गम रास्ते में पैदल चलकर घटोन ग्राम पहुंचे। इस दौरान जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने ग्राम में चौपाल लगाकर लोगों को हाथियों से बचने के लिए सुरक्षित जगह में रहने की समझाईश दी।

गौरतलब है कि हाथी प्रायः घटोन ग्राम से होते हुए विचरण करते रहते हैं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा उदयपुर के अनुविभागीय राजस्व अधिकारी आर.के. तम्बोली, सीतापुर एवं लखनपुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संजय सिंह एवं अजय सिंह सहित अन्य अधिकारी एवं स्थानीय ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *