chulaha
Chhattisgarh Gariaband

चार दिन की चांदनी फिर अंधियारी रात, यहाँ का हाल कुछ ऐसा ही है

गरियाबंद: जिले में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत वितरित किए गए सिलेंडरों की रिफलिंग के आंकड़े उत्साहजनक नहीं हैं। जिले में अबतक 64 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को इस योजना का लाभ मिल चुका है। वहीं अगर योजना से जुड़े हितग्राहियों के सिलेंडरों की रिफलिंग की बात की जाए तो एक तिहाई लोगों ने ही अब तक अपने सिलेंडर को रिफलिंग कराया है।

गरीब परिवारों की महिलाओं को धुंए से मुक्ति और समाज में सम्मान दिलाने के नाम से शुरू की गई प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की सफलता में मंहगाई रोड़ा बनती नजर आ रही है। योजना के तहत मात्र 200 रुपये में गैस सिलेडर और चूल्हा मिलने से हितग्राही खुश थे। वहीं अब सिलेंडर खाली होने के बाद दोबारा रिफलिंग के लिए उतने ही मायूस नजर आ रहे हैं।

लोगों का कहना है कि रिफलिंग के रेट उनके बजट से बाहर है इसलिए वे चाहकर भी गैस सिलेंडर का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। हितग्राही योजना की तो तारीफ कर रहे हैं मगर रिफलिंग मंहगी होने के कारण इसका उपयोग कर पाने में अक्षम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *