Baloda Bazar Chhattisgarh

गरियाबंद: ओडीएफ बनाने की होड़, तीन दिन में ढहा शौचालय

गरियाबंद: जिले में खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) गांवों की संख्या का आंकड़ा बढ़ाने के लिए नियमों को ताक पर रखा जा रहा है. गांवों में काम चलाऊ शौचालयों का निर्माण किया जा रहा है. काम चलाऊ शौचालय के निर्माण से गिनती का आंकड़ा तो पूरा हो सकता है, लेकिन उनका उपयोग नहीं किया जा सकता है.

मामला जिले के मैनपुर विकासखंड की मुडगेलमाल पंचायत में देखने को मिला है. गांव में गांताजलि का शौचालय निर्माण के तीन दिन बाद ही ढह गया है. इससे कुछ दिन पहले भी गांव में इसी तरह एक और शौचालय ढह गया था.

कृषि अधिकारियों ने किसानों को जैविक खाद का उपयोग किस तरह से खेती की जाए इस पर भी जानकारी दी गई. कार्यशाला में आए किसान दशरथ नेताम ने बताया कि इस कार्यक्रम से हमें खेती के नए तरीके के साथ ही जैविक खाद के उपयोग और लाभ की जानकारी मिली, जो आने वाले दिनों में कृषि कार्य में हमारे लिए फायदेमंद होगा.

कार्यशाला के आयोजक कृषि विभाग के अधिकारी आरके बिज्नौरिया ने कहा कि आज खेतों में उत्पादन कम हो रहा है. वहीं खाद्यान्न की मात्रा बढ़ नहीं  रही है, इसके पीछे मृदा का स्वास्थ्य ठीक नहीं होना है. मृदा के स्वास्थ्य को ठीक रखकर खतों में पैदावार बढ़ाई जा सकती है. इसी विषय को केंद्रित करते हुए इस कार्यशाला का आयोजन किया गया है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *