Chhattisgarh India Raipur

रायपुर: अस्थायी जेल में शिक्षाकर्मी को हुआ हृदयघात

रायपुर: शिक्षाकर्मियों को आंदोलन को विफल करने के लिए शनिवार सुबह से ही पुलिस ने शहर के चारों ओर नाकेबंदी कर रखी थी। वहीं धरना स्थल पर पहुंचने से रोकने के लिए विभिन्न जगहों पर 25 चेक पोस्ट बनाए गए थे, जहां शिक्षाकर्मियों को रोका जा रहा था. शिक्षाकर्मियों को गिरफ्तार कर शहर में बनाई गई 12 अस्थायी जेलों में भेजा जा रहा था. महादेव घाट क्षेत्र में पं. गिरिजा शंकर मिश्र स्कूल को भी अस्थायी जेल में बदला गया था. यहां दोपहर तक करीब 500 शिक्षाकर्मियों को गिरफ्तार कर रखा गया था। इन्हीं में कांकेर के कोयलीबेड़ा ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल नेलटोला के शिक्षक मदन बरिहा भी शामिल थे। अस्थायी जेल में दोपहर करीब 3 बजे एकाएक शिक्षक बरिहा के सीने में तेज दर्द उठने लगा। दर्द की अधिकता के चलते वे सुध-बुध खो बैठे और बेहोश होकर गिर गए. मौके पर मौजूद शिक्षकों ने उन्हें पाली पिलाया और तीमारदारी की। उनकी हालत में कोई सुधार होता नहीं देखकर उन्होंने प्रशासनिक अमले से गुहार लगाई। काफी देर तक इंतजार के बाद भी एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिल पाने पर आखिर में पुलिस कर्मचारी शिक्षक बरिहा को लेकर नजदीक ही जगन्नाथ मंदिर पहुंचे। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें मेकाहारा में भर्ती कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *