Chhattisgarh Rajnandgaon

भारत का संविधान देश की आत्मा है:निर्मल मिंज

राजनांदगांव: जिले में शनिवार को जिला न्यायालय परिसर राजनांदगांव में 68वां संविधान दिवस मनाया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष निर्मल मिंज ने कहा कि भारत का संविधान देश की आत्मा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने अधिकार के साथ कर्तव्य का भी पालन करना चाहिए। ज्ञातव्य हो कि जिला और सत्र न्यायालय राजनांदगांव की ओर से संविधान दिवस को विधिक दिवस के रूप में मनाया गया। मिंज ने कहा कि देश की उन्नति विकास और सामाजिक न्याय के लिए प्रत्येक व्यक्ति को संविधान का अध्ययन और पालन करना चाहिए। कार्यक्रम में कुटुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश डॉ. प्रज्ञा पचौरी भी विशेष रूप से उपस्थित थी।
इस अवसर पर कुटुुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश डॉ प्रज्ञा पचौरी ने संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई। उन्होंने 1857 से लेकर 26 जनवरी 1949 तक राष्ट्रीय परिवेश एवं परिस्थितियों पर भी प्रकाश डाला। इस दौरान शासकीय अभिभाषक विष्णुप्रसाद साव, वरिष्ठ अधिवक्ता एनके ठाकुर और जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष टी नागेशराव, गजेन्द्र बख्शी, दिनेश ओझा, न्यायिक कर्मचारी संघ के अध्यक्ष ने संविधान के व्याख्यान माला में भाग लिया। विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव अंजली सिंह ने सभी अधिवक्ताओं से 9 दिसम्बर को होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में भाई चारा से समझौता के आधार पर अपना प्रकरण अधिक से अधिक संख्या में निराकरण कराने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *