madhyapradesh

मासूमों का शिकार करने वाला आदमखोर पिंजरे में कैद

छिंदवाड़ा: चार मासूमों का शिकार करने वाला आदमखोर तेंदुआ शुक्रवार को सुबह वन विभाग द्वारा लगाए गए पिंजरे में कैद हो गया।

आदमखोर तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग पिछले दो माह से लगातार प्रयास कर रहा था। लेकिन आदमखोर की लोकेशन तो दूर तेंदुआ सीसीटीवी कैमरे तक कैद नहीं हो पा रहा था। तेंदुए को पकड़ने के बाद भोपाल मुख्यालय से अनुमति लेने के बाद वृत्त के बाहर दूसरे जंगल में शिफ्ट किया जाएगा।

परासिया एसडीओ अनादि बुधोलिया ने बताया कि छिंदी रेंज में 7 जनवरी को मोहरलीमाता निवासी कल्पना पिता ब्रजेश कवरेती उम्र 6 साल का दिन में तो वहीं रात में बिजोरी पठार निवासी हर्षेस पिता अशोक टेकाम उम्र 10 साल का शिकार कर लिया गया था। इसके बाद वनाधिकारी एवं कर्मचारियों ने तेंदुए की तलाश शुरू की, लेकिन लोकेशन नहीं मिली। तभी 10 जनवरी को पुन: झीरपानी निवासी सावन शा पिता कल्लू युवनाती उम्र 5 साल का शिकार तेंदुए द्वारा किया गया।

इसके बाद भी आदमखोर तेंदुए को पकड़ने के लिए भरसक प्रयास किए गए लेकिन तेंदुआ पकड़ में नही आया। पुन: तेंदुए ने 7 फरवरी को मोदईढाना निवासी पूनम का शिकार किया। पिछले दो माह से लगातार वन विभाग द्वारा तेंदुए को पकड़ने का प्रयास किया गया। जिसके चलते जंगल में 50 से अधिक कैमरे लगाएं गए तो वहीं पिंजरे भी लगाए गए।

इनका कहना है।

परासिया रेंज के लौहारी गांव में तेंदुआ पिंजरे में कैद हो गया है। पिंजरे में बंद हुए तेंदुए को दूसरे जंगल में शिफ्ट करने के लिए चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन जितेन्द्र अग्रवाल से अनुमति मांगी गई है। अनुमति मिलने के बाद जल्द ही शिफ्ट कर दिया जाएगा।

यूके सुबुद्धि, सीसीएफ, छिंदवाड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *