India

कुलभूषण की मां और पत्नी से मुलाकात छोड़ गई कई सवाल, पाक फिर शक के घेरे में

इस्लामाबाद: हमेशा अपने नापाक इरादों और व दुनिया में दोहरा चेहरा रखने वाले पाकिस्तान ने आखिर भारत की बात मानते जेल में बंद पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव की उसकी मां और पत्नी से  मुलाकात करवा दी । लेकिन इस मुलाकात के  दौरान  भी वह अपनी ओछी हरकतों से बाज नहीं आया। मामला अंतर्राष्ट्रीय अदालत में होने कारण पूरी दुनिया की नजर इस घटनाक्रम पर टिकी रही और इस मुलाकात को लेकर पाक सरकार फिर सवालों में घिर गई। चर्चा है कि आतंक के मुद्दे पर विश्व में अपनी गिरती साख को बचाने के लिए पाक ने ये नया दाव खेला है ताकि वह दुिया में अपनी छवि सुधार सके । आइए जानते है इस मुलाकात से जुड़ी कुछ खास बातें…

1. पहला सवाल ये खड़ा होता है कि पाक सरकार ने कुलभूषण को उसकी मां और पत्नी से  मिलवा तो दिया लेकिन शीशे के आर-पार, आमने सामने क्यों नहीं। कड़ी सुरक्षा, सी.सी टी.वी कैमरों के बीच भी आखिर पाक को किस बात का डर था। क्या योदव की जगह उसका डमी था ?

2. अगर पाक को शीशे के आर पार ही मुलाकात करवानी थी तो एेसी मुलाकात तो वीडियों कांफ्रैंसिग के जरिए भी हो सकती थी फिर पाक ने मां और पत्नी को बुलाने का ड्रामा क्यों किया ?

3. हैरानी वाली बात यह भी है कि मुलाकात के दौरान पहले मां-पत्नी व कुलभूषण के बीच शीशे की दीवार और फिर भारतीय उच्चायोग व इनके बीच भी शीशे की दीवार रखी गई ताकि उन तीनो की बातचीत  भारतीय उच्चायोग न सुन सके ।

4. एक बात ये भी खटक रही कि मुलाकात में जब पाक उच्चायोग मां और पत्नी के साथ रहे तो भारतीय उच्चायोग दूर क्यों रखा गया?

5. मुलाकात में मां- और पत्नी के पास बातचीत के लिए जो फोन रखा गया उसे पर भी टेप लगा कर रखी गई व स्पीकर अॉन करके रखा गया।

6. ये बात भी चर्चा में रही कि इस सारे घटनाक्रम के दौरान भारतीय मीडिया को दूर रखा गया ।

जाधव की दी गई नशीली दवाएं
रक्षा एवं कूटनीतिक विश्लेषकों ने जाधव को मराठी में बोलने से रोके जाने और उन्हें अपनी मां का आशीर्वाद लेने से महरूम किए जाने को अमानवीय करार दिया गया। अंतर्राष्ट्रीय न्यायाधिकरण में कमांडर जाधव को बचाने के लिए पैरवी कर रहे वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने नयी दिल्ली में कहा कि यह बहुत चिंता की बात है कि कमांडर जाधव को भयंकर रूप से प्रताड़ति किया गया है और उन्हें नशीली दवाएं दे कर लाया गया था। वह अपनी मां और पत्नी से अपनी मातृभाषा की बजाए अंग्रेकाी में बात कर रहे थे और उनकी भावभंगिमाएं भी अजीबोगरीब थीं। निश्चित रूप से मुलाकात के बाद उनकी मां की भी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *