Chhattisgarh Raipur

प्रदेश में मिले कुष्ठ के 9 हजार नए मरीज, प्रति एक लाख आबादी पर 32 नए मरीज

रायपुर. प्रदेश में बीते एक साल के दौरान कुष्ठ रोग के करीब 9 हजार नए मरीजों की पहचान हुई है। चिंताजनक तथ्य है कि रायगढ़, रायपुर और दुर्ग सहित आठ जिलों में यह रोग बहुत ही तेजी से फैल रहा है। यहां इस रोग के उन्मूलन के लिए चलाया जा रहा राष्ट्रीय कार्यक्रम अपना असर नहीं दिखा पा रहा है। प्रदेश में इस वर्ष नए कुष्ठ रोगियों की पहचान की दर देंखे तो यहां प्रति एक लाख आबादी पर 32 नए मरीज सामने आए हैं। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर इस वर्ष प्रति एक लाख आबादी पर 7 कुष्ठ रोगियों की पहचान हुई है। यह खुलासा राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम ने किया है।

कुष्ठ रोग से संबंधित ताजा आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में प्रति दस हजार आबादी पर यह रोग 2.14 फीसदी की दर से फैल रहा है। देशभर में कुष्ठ रोग से पीड़ित 7 फीसदी मरीज अकेले छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य में हैं। लिहाजा राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अधिकारी मानते हैं कि बाकी राज्यों के मुकाबले छत्तीसगढ़ में कुष्ठ रोग पर काबू पाना अधिक चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है।

राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के मुताबिक बीते साल प्रदेश में कुष्ठ रोगियों को विकलांगता से मुक्ति दिलाने के लिए सरकारी स्तर पर 159 और गैर-सरकारी स्तर पर 12 सर्जरी हुई हैं। राज्य गठन के बाद से अब तक कुष्ठ रोगियों के 2,134 ऑपरेशन हुए हैं। सरकारी अस्पताल में कुष्ठ रोग का सत्यापन होने पर 250 रुपए, 6 माह तक इलाज होने पर 400 रुपए और 12 माह तक इलाज होने पर 600 रुपए प्रति मरीज के हिसाब से मितानिन को प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

राज्य में चलेगा विशेष अभियान सरकार कुष्ठ रोग से निजात पाने के लिए अब राज्य भर में विशेष अभियान चलाएगी। स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग के सचिव विकासशील के मुताबिक यह अभियान इसी साल मई से चलाया जाएगा। कुष्ठ रोग को मिटाने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि इससे पीड़ित अधिकतम मरीजों को ढूढऩा। इसलिए विभाग अब खास तौर पर ग्रामीण और अति संवेदनशील इलाकों में घर-घर जाकर एक सर्वे कार्यक्रम आयोजित करेगा।

यह अभियान इस साल दो चरणों में पूरा किया जाएगा। इसका मकसद अधिक से अधिक कुष्ठ रोगियों को खोजना है, ताकि उनका उपचार कराया जा सके। राज्य सरकार कुष्ठ रोग पर नियंत्रण के लिए इस साल लक्ष्य निर्धारित करेगी। उन्मूलन कार्यक्रम में सहयोग के लिए एक सरकारी और एक गैर-सरकारी संस्था को जिम्मेदारी दी जाएगी।

कहां कितने मरीज
रायगढ़-1,480
रायपुर-1,021
दुर्ग-906
बिलासपुर-670
बलौदा बाजर-583
महासमुंद-437

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *