meethi tulsi and neem story in hindi
India madhyapradesh

मीठी तुलसी के नाम पर लाखों लोगों से लूट, इंटरनेट से ऐसे कर रहे ठगी

इंदौर. देश के कई जिलों में लोगों को मीठी तुलसी के नाम पर ठगा जा रहा है। एक बड़े प्लॉन के तहत संगठित रूप से सीधे साधे लोगों को शिकार बनाया जा रहा है और उनसे लाखों रुपए लूटे जा रहे हैं। ठगी का यह नेटवर्क इतना बढ़ चुका है कि इसने इंदौर में एक अधिकारी को ही लूट लिया। कई बीमारी ठीक करने वाली मीठी तुलसी का लालच देकर ठगों ने अधिकारी को मीठे नीम के जैसे पत्तियां बेच दी। मीठी तुलसी बहुत महंगी आती है और इसका कई असाध्य बीमारियों में सेवन किया जाता है। इतना ही नहीं इसके उपयोग से शरीर मजबूत होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजूबत होती है। मीठी तुलसी बहुत कम मिलती है और इसके लिए बड़ी कीमत चुकाना पड़ती है। हालांकि लोग अब इसके फायदों को देखते हुए इसके लिए मुंहमांगे दाम देने को भी तैयार हो जाते हैं।
हैदराबाद भेल के रिटायर्ड डिप्टी मैनेजर केपी रमन राव ने डीआईजी को बताया
कि इंदौर के ठग ने उन्हें बेवकूफ बना कर 80 हजार रुपए की ठगी की। मैनेजर
ने इंटरनेट पर सर्च कर मीठी तुलसी यानी की स्टेविया के पौधे के लिए एक
एजेंट से संपर्क किया था। एजेंट ने मैनेजर को इसकी जगह मीठी नीम जैसी
दिखने वाली पत्तियां भेज दीं। चूंकि मैनेजर पहले खुद मीठी तुलसी की खेती
करते थे इसलिए वे पहचान गए कि यह मीठी तुलसी नहीं है। वरना साधारण आदमी तो कभी पहचान ही नहीं पाता कि उन्हें मीठी तुलसी के नाम पर मीठी नीम जैसे पत्तियां या कुछ और ही बेचा जा रहा है।

यह भी पढ़ें:- चोटी काट रही है एक चुड़ैल, महिलाओं में दहशत का माहौल

देशभर में फैला है फर्जीवाड़े का जाल
डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने शिकायत मिलने के बाद इंटरनेट के माध्यम
से हो रही इस ठगी की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी है। गौरतलब है कि देश
के कई जिलों में मीठी तुलसी के नाम पर लोगों को बेवकूफ बनाने की शिकायतें
आ चुकी हैं। एक ओर जहां  चमत्कारी फायदों के चलते इसकी डिमांड बढ़ रही है
वहीं जानकारी के अभाव में लोगों को मीठी तुलसी के नाम पर कुछ और ही बेचा
जा रहा है।

मीठी तुलसी के हैं कितने फायदे
1. डायबिटीज और पेट के रोगों में बेहद असरकारक।
2. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और शक्ति का संचार।
3. मोटापा घटाने में बेहद तेजी से काम करती है।

शक्कर से 300 गुना ज्यादा शुगर वाली
मीठी तुलसी में गन्ने और शक्कर से 300 गुना ज्यादा शुगर होती है लेकिन
फिर भी यह डायबिटीज के लोगों के लिए रामबाण होती है। इसका कारण यह है कि
इसमें ग्लूकोज नहीं होता। इस वजह से यह तेजी से डायबिटीज के मरीजों को
फायदा पहुंचाती है।

One thought on “मीठी तुलसी के नाम पर लाखों लोगों से लूट, इंटरनेट से ऐसे कर रहे ठगी

  1. There arе, in fact, some unfavourable pointѕ tо freelаncing.
    One important level is tһat in case you work as a contract paralegal you will not be eligiЬle for the variwties
    of advɑntagеs that youd have in working for a law firm oг a priate attorney.
    Should you ffeel that such “perks” as general medical insսrance and different such
    benefifs aare impoгtant, freelancing іs not going to gikve you thwse
    benefits.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *