Chhattisgarh Durg-Bhilai Uncategorized

लाखों का एल्युमिनियम मिट्टी में हुआ तब्दील

भिलाई: हथखोज स्थित एक कंपनी से इटली जाने के लिए निकला 27 मिट्रीक टन फैरो एल्युमिनियम रास्ते में लकड़ी और मिट्टी में तब्दील हो गया। इटली में बॉक्स खुलने के बाद खरीदने कंपनी ने भिलाई के सप्लायर को मेल पर माल का फोटो भेजा। इसके बाद भिलाई के सप्लायर सार्थक मैटल के संचालक अनूप बंसल ने भिलाई-3 थाने में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई। भिलाई-3 पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ अमानत में खयानत की धारा 406 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। 27 मिट्रिक टन एल्युमिनियम की कीमत 23 लाख रुपए बताई जा रही है।

क्या था पूरा मामला :
भिलाई-3 थाना प्रभारी निरीक्षक जगदीश मिश्रा ने बताया कि हथखोज में सार्थक मैटल लिमिटेड नामक कंपनी है। कंपनी संचालक भिलाई सुपेला निवासी अनूप बंसल को इटली के व्यापारी ने 27 मिलियन टन कीमत 23 लाख रुपए का फेरो एल्यूमिनियम का आर्डर किया था। सार्थक मैटल ने 18 सितंबर 2017 को भिलाई से इटली के लिए माल ट्रक से नागपुर के लिए रवाना किया। यहां से मुंबई भेज दिया गया। फैरो एल्युमिनियम को मुंबई से शिप के माध्यम से इटली भेजा गया। इटली की कंपनी में एल्युमिनियम के कंटेनर बॉक्स को 6 नवंबर को खोला तो उसमें मिट्टी का ढेर और लकड़ी के गुटके निकले। माल खरीदने वाली कंपनी फॉर स्टील ने अनूप बंसल को मिट्टी और लकड़ी का तस्वीर मेल से भेजी। स्थानीय स्तर पर इसकी जांच करने के बाद प्रार्थी ने शनिवार को भिलाई-3 थाने में अज्ञात आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई।
भिलाई-3 थाना प्रभारी निरीक्षक मिश्रा ने कहा कि अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया गया है, लेकिन रास्तेभर में कौन से स्थान पर 27 मिट्रिक टन एल्युमिनियम को बदला गया इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। अभी मामला दर्ज कर उसकी जांच शुरू की जा रही है। इतने ज्यादा मात्रा में फैरो एल्युमिनियम को खपाने के लिए भी किसी बड़ी कंपनी में पहचान होनी जरूरी है। पुलिस सप्लायर कंपनी और उससे जुड़ी पूरी कड़ी के बारे में जानकारी जुटा रही है, ताकि मामले को जल्द सुलझाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *