Chhattisgarh Raipur Sukma

अब नक्सलियों के खिलाफ होगी ऑपरेशन तेज

रायपुर: केंद्रीय आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार ने दो टूक शब्दों में कहा है कि अब नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज किया जाएगा। भीतर तक घुसकर हमला होगा। मंगलवार को सुकमा जिले के किस्टाराम में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के नौ जवानों की शहादत के बाद बुधवार को किस्टाराम कैंप पहुंचे कुमार ने कैंप के जवानों से घटना की जानकारी ली। वहीं सीआरपीएफ और पुलिस के अधिकारियों के साथ आगे की रणनीति पर चर्चा की। दूसरी ओर बुधवार को रायपुर के माना कैंप स्थित चौथी बटालियन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर व सीएम डॉ. रमन सिंह ने शहीद जवानों को श्रद्घांजलि दी। इसके बाद उनकी देह गृहग्राम रवाना कर दी गई।

मंगलवार को सुकमा जिले के किस्टाराम में हुई घटना को देश की राजधानी दिल्ली ने भी गंभीरता से लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस घटना पर चिंता जताई थी। बुधवार को आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार दोपहर 12ः30 बजे हेलिकॉप्टर से सीआरपीएफ के डीजी राजीव राय भटनागर, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव वीवीआर सुब्रमण्यम व डीजी नक्सल ऑपरेशन डीएम अवस्थी के साथ किस्टाराम पहुंचे। बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी अभिषेक मीणा से नक्सली हमले की पूरी जानकारी ली। कैंप में तैनात जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया। विजय कुमार व सीआरपीएफ डीजी ने नक्सलियों के टीसीओसी के दौरान जवानों को अलर्ट रहने और सुरक्षाबलों व पुलिस के बीच बेहतर तालमेल बनाकर नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज करने की बात कही। शाम 5 बजे सभी अफसर सुकमा लौट आए। इस दौरान डीआईजी पी सुंदरराज, सीआरपीएफ डीआईजी एलांगो, एएसपी नक्सल ऑपरेशन शलभ सिन्हा समेत पुलिस और सीआरपीएफ के आला अफसर मौजूद थे।

यूबीजीएल का गे्रनेड फटने से तीन जवान घायल

दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर कैंप में बुधवार को सर्चिंग पर निकलने की तैयारी के दौरान यूबीजीएल की सफाई करते समय हैंड ग्रेनेड फट जाने से तीन जवान एस. सोरमापन, एम. गनना शेखरम व राम सिंह घायल हो गए। प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें हेलिकॉप्टर से रायपुर रेफर कर दिया गया है।

सात वाहनों को फूंका, 22 को किया अगवा

बुधवार को दोपहर डेढ़ बजे नक्सलियों ने बीजापुर जिले के गंगालूर मार्ग पर पामलवाया कैम्प से करीब डेढ़ किमी दूर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण में लगे सात वाहनों को फूंक दिया। वहीं निर्माण कंपनी के कर्मचारियों समेत 22 मजदूरों को अगवा कर लिया। कुछ घंटे बाद ही इन्हें छोड़ भी दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *