bhari
Chhattisgarh Gariaband

भारी वाहनों की आवाजाही से लोगो को हो रही है परेशानी

गरियाबंद: सड़क में धान, भूसी और तेन्दुपत्ता से भरे भारी वाहनों की आवाजाही से मैनपुर से राजिम तक की सड़क मार्ग में हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। राजिम से मैनपुर तक सड़क चौड़ीकरण होने के बाद से इस मार्ग मे वाहनों की संख्या और इनकी रफ्तार मे काफी वृद्धि हुई है। जिसके कारण आए दिन इस मार्ग सड़क दुर्घटना होते रहती है। इसमें कई बार लोगों ने अपनी जान तक गंवाई है। इस तरह के ओवरलोड गाड़ियों के पास से गुजरने से लोग सहम जाते है।

राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित होने के बाद इस मार्ग के अधिकांश गतिअवरोधक को हटा दिए गए है। जिससे अब नगर और ग्रामीण क्षेत्र के बीच से जाने वाले सभी प्रकार के वाहन काफी तेज गति से निकलते है। वाहनों के तेज गति से सड़कों पर दुर्घटना का डर तो लोगों में बना रहता है। वहीं अब मार्ग मे चलने वाले तेन्दूपत्ता से भरे ट्रक और धान से भरे ट्रक के ओवरलोड होने के कारण भी दुर्घटना की आशंका और अधिक बढ़ गई है। जबकि देखा गया है कि बड़े ट्रकों में निश्चित भरण क्षमता निर्धारित है। इसके बाद भी ओवरलोड ट्रकें बेधड़क सड़कों पर दौड़ रही है। कहने को तो जिले में मैनपुर से राजिम तक 5 थाना और चौकी है। फिर भी इन ओवरलोड ट्रकों के आवाजाही में पुलिस प्रशासन द्वारा रोकथाम नहीं की जाती। इन ओवरलोड वाहनों में क्षमता से अधिक बोरे भर दिए जाते है जो कि ट्रक के आजू-बाजू दोनों ओर पांच-पांच फीट तक बाहर निकले होते है। जिसके कारण यह ट्रक पूरा मार्ग मे तो कब्जा कर लेता है और आने जाने अन्य वाहनों को क्रासिंग और ओवरटेक के दौरान प्रभावित करता है। इस कारण कई बार अन्य वाहन दुर्घटना के शिकार हो जाते है। वहीं तेन्दूपत्ता से भरे ट्रक में क्षमता से अधिक भराव के साथ ऊपर हिस्से मे अधिक ऊंचाई तक तेन्दूपत्ता के बोरे भरे होते है जब ये वाहन ग्रामीण क्षेत्र से गुजरते है तो देखा जाता है कि कई बार ये ओवरलोड ट्रक बिजली के तारों को भी तोड़ते हुए निकल जाते है या कभी भी विद्यृत की चपेट मे आने से ट्रक मे आग भी लग जाती है। इसी तरह का एक घटना बीते साल पांडुका मे हुई थी। जब ट्रक एक विद्यृत तार को छुते हुए निकला और देखते ही देखते ग्राम के बीच बस्ती मे ट्रक में आग लग गई और ट्रक को आनन-फानन में तालाब में उतारा गया। तब जाकर एक बड़ी घटना घटने से बची। वर्तमान समय में बीते एक माह से धान की खरीदी और उठाव जारी है ही साथ ही अब तेन्दूपत्ता की खरीदी का कार्य भी आरंभ होने को है जिसे देखते हुए ओवरलोड वाहनो पर रोक लगाने की आवश्यकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *