Bilaspur Chhattisgarh Mungeli Politics

मुंगेली : धीमी गति से हो रहे सडक निर्माण से लोग परेशान

मुंगेली: जिला बने 6 वर्ष गुजर जाने के बाद भी सड़को का जाल बिछाने की बात कहने वाले जनप्रतिनिधि, अधिकारियो और कर्मचारियों के सामने बौने साबित हो रहे है। विभिन्न मार्गों पर हो रहे सडक निमार्ण की धीमी गति से लोग परेशान होने लगे है, वहीं आधे-अधूरे निमार्ण के चलते दुर्घटनाओ की संख्याओं में वृद्धि हुई है।

जिला बनने के बाद लोगों को जिले के विकास की अपेक्षाएँ थी, चूंकि बिलासपुर लोकसभा एवं लोरमी और मुंगेली विधान सभा से सत्तारूढ़ दल के सांसद और विधायक प्रतिनिधि चुने गये थे, जिससे लोगों को विकास की आपेक्षाए थी, किंतु जनप्रतिनिधि लोगो के भरोसे पर खरे नही उतर पाये। यही कारण है कि जिले में सड़कों का जाल बिछाने की परिकल्पना अधर में लटकी हुई है। लोक निर्माण विभाग के उपेक्षापूर्ण कार्यां की वजह से जिले में सड़कों का जाल समय सीमा के पूर्व नहीं बिछ पाया है। बिलासपुर रोड से गीधा होते हुए रायपुर रोड को जोड़ते हुए पंडरिया रोड के चातरखार के पास निकलने वाली बायपास सड़क लगभग 15 वर्षों से पूर्ण होने के लिए बांट जोह रहा है। उसी तरह से दाउपारा से गीधा तक फोर लाईन सड़क के निर्माण में हो रहे देर की वजह से यह सड़क हादसों का सड़क बनकर रह गया है।

ठेकेदार और अधिकारियों की उपेक्षापूर्ण कार्यों की वजह से टुकड़ों-टुकड़ो में इसे बनाया जा रहा है। शासन की योजनाओं एवं विकास के संबंध में जानकारी देने एवं लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए लोक सुराज का द्वितीय चरण के प्रथम दिवस की भटगांव प्रवास पर आये मुख्यमंत्री एवं लोक निर्माण विभाग के सचिव से भी इस संबंध में शिकायत की गयी थी। ज्ञात हो कि बिलासपुर मुख्य मार्ग पर दाउपारा से गीधा तक हो रहे सड़क निर्माण की गति धीमी होने के कारण एवं 5 कि.मी. तक की सड़क को भी धीमी गति से एवं किश्त-किश्त में बनाया जा रहा है जिसके कारण दुर्घटनाओं की संख्या बड़ी है। किश्त-किश्त में बनाये जाने की वजह से कई जगहों में सड़कों की स्थिति बेहतर है और कई स्थानों पर बड़ी गिट्टी डाल दी गई है। जिसके कारण छोटी गाडियां सहित राहगीरों को भारी परेशानी हो रही है। बड़ी गाड़ियों से गिट्टी छिटककर लोगों को घायल कर रहे है। लोग सड़कों के निर्माण का जल्द से पूरा करने के लिए कह रहे है। इस सबंध में लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंत्ता अपना पल्ला झाड़ते हुए नजर आये और कोई भी शब्दों का जवाब नहीं दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *