Chhattisgarh Jagdalpur

आदिवासियों के बस्तर में दलित बलात्कार पीडि़ता ने दी आत्महत्या की धमकी!

 जगदलपुर। आदिवासी बहुलता वाले बस्तर में बलात्कार पीडि़त एक दलित युवती बीते डेढ़ महीने से न्याय की आस में भटक रही है परंतु आरोपी के रसूखदार होने के कारण उसे अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए दलित युवती ने अदालत से गुहार लगाई है। दलित युवती का आरोप है कि रिपोर्ट दर्ज कराने के बावजूद पुलिस उसे कई तरह से प्रताडि़त कर रही है। इससे त्रस्त होकर दलित युवती ने चेतावनी दी है कि अगर उसे तत्काल न्याय नहीं मिला तो आरोपी के साथ प्रताडि़त करने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सुसाइडल नोट लिखकर आत्महत्या कर लेगी।

घटना सुकमा जिले की है, जहां एक दलित युवती ने एक समुदाय विशेष के युवक पर बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई। बताया गया है कि एक मीडिया समूह से जुड़े होने के कारण पुलिस के स्थानीय अधिकारियों के साथ उसके सम्बंध है, लिहाजा पुलिस उसे बचाने में जुटी हुई है। युवती ने बताया कि 29 जुलाई को उसने बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज कराई। उसी रात करीब साढ़े दस बजे उसे सखी सेंटर भेज दिया गया। अगले दिन तीस जुलाई को उसकी चिकित्सीय परीक्षण कराया गया, जिसमें बलात्कार होने की पुष्टि हुई।  31 जुलाई को जिला सत्र न्यायाधीश के समक्ष उसका बयान कराया गया। युवती के अनुसार इसके बाद अगले पंद्रह दिनों तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।15 अगस्त को पुलिस ने उससे जाति प्रमाणपत्र मांगा। जिसके बाद आरोपी के खिलाफ एक्टोसिटी एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबध्द किया गया।
रात 11 बजे बुलाते हैं थाने
पीडि़ता का आरोप है कि सुकमा पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर उसे रात 11 बजे थाने में बुलाया जाता है और नए-नए तरीकों से पूछताछ की जाती है। युवती का ारोप है कि पुलिस आरोपी को बचाने की कोशिश कर रही है अन्यथा बलात्कार होने की पुष्टि तथा सत्र न्यायाधीश के सामने बयान होने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाता। उसने बताया कि आरोपी को पुलिस अधीक्षक का संरक्षण है जिसके कारण उसे अब तक पकड़ा नहीं जा सका है।
अदालत की शरण में
पीडि़ता अब न्याय के लिए अदालत की शरण में चली गई है। उसने कहा कि अगर पुलिस आरोपी को तत्काल गिरफ्तार नहीं करती तो वह खुदकुशी कर लेगी और उससे पहले एक पत्र लिखकर आरोपी के साथ पुलिस अधिकारियों पर प्रताडि़त करने का आरोप भी लगाएगी।
पखांजुर में भी नाबालिग से दुष्कर्म
दक्षिण बस्तर के अलावा उत्तर बस्तर के पखांधुर के एसेबेड़ा गांव में रहने वाली एक नाबालिग ने दुष्कर्म किए जाने का आरोप लगाया है। पुलिस के मुताबिक शादी का झांसा देकर इस नाबालिग का बीते दो साल से दैहिक शोषण किया जा रहा था। गर्भवती होने पर आरोपी ने जब उससे शादी करने से इनकार किया तो मामला पुलिस तक पहुंचा। इसकी सूचना पाकर आरोपी फरार हो गया है। पुलिस ने मामला दर्ज करके आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *