Chhattisgarh Raipur surajpur

मुझे खुशी है इस मंच से श्रोता भी देते हैं सुझाव :रमन

रायपुर: सूरजपुर जिले के जिला मुख्यालय तथा विकासखण्डों और ग्राम पंचायतों रमन के गोठ को उत्साह से सुना गया। मुख्यमंत्री डा. रमनसिंह ने कहा कि मुझे खुशी है कि इस मंच से श्रोता तथा वरिष्ठ पदों पर बैठे लोग मुझसे चर्चा करते हैं। अपने सुझाव भेजते हैं तथा अपनी रुचि के विषय को इसमें शामिल करने का आग्रह करते हैं। 1 नवम्बर से 5 नवम्बर तक प्रदेश में धूमधाम से राज्योत्सव मनाया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तथा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने राज्योत्सव में पधार कर समारोह को शिखर पर पहुंचा दिया।
तेन्दूपत्ता बोनस तिहार मनाने का फैसला किया है जो 1 दिसम्बर से 10 दिसम्बर तक चलेगा। इस तिहार में सिर्फ बोनस ही नहीं बांटा जाएगा बल्कि वनवासियों के जीवन में बदलाव लाने वाली योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी होगा। हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ भी दिया जाएगा।13 वर्षों में हमने 1 हजार 842 करोड़ रुपए का संग्रहण पारिश्रमिक दिया है।
बाल दिवस14 नवम्बर को बाल दिवस भी है। इस अवसर पर मैं सभी बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। बच्चों में भगवान बसते हैं। बच्चे मन के सच्चे होते हैं। वे गीली माटी के समान होते हैं, जिन्हें सही शिक्षा और सही संस्कार देकर हम मनचाहे आकार में ढाल सकते हैं। प्रदेश में बचपन को बचाने और उनका भविष्य संवारने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की है। मुख्यमंत्री बाल भविष्य योजना, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजनाए, नानचुन शिशु सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री अमृत योजना, चिरायु योजना, बाल मधुमेह योजना, मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना, सरस्वती साइकिल योजना आदि।  खुशी है कि इस मंच से श्रोता तथा वरिष्ठ पदों पर बैठे लोग मुझसे चर्चा करते हैं। अपने सुझाव भेजते हैं तथा अपनी रुचि के विषय को इसमें शामिल करने का आग्रह करते हैं। 1 नवम्बर से 5 नवम्बर तक प्रदेश में धूमधाम से राज्योत्सव मनाया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तथा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने राज्योत्सव में पधार कर समारोह को शिखर पर पहुंचा दिया।
तेन्दूपत्ता बोनस तिहार मनाने का फैसला किया है जो 1 दिसम्बर से 10 दिसम्बर तक चलेगा। इस तिहार में सिर्फ बोनस ही नहीं बांटा जाएगा बल्कि वनवासियों के जीवन में बदलाव लाने वाली योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी होगा। हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ भी दिया जाएगा।13 वर्षों में हमने 1 हजार 842 करोड़ रुपए का संग्रहण पारिश्रमिक दिया है।
बाल दिवस14 नवम्बर को बाल दिवस भी है। इस अवसर पर मैं सभी बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। बच्चों में भगवान बसते हैं। बच्चे मन के सच्चे होते हैं। वे गीली माटी के समान होते हैं, जिन्हें सही शिक्षा और सही संस्कार देकर हम मनचाहे आकार में ढाल सकते हैं। प्रदेश में बचपन को बचाने और उनका भविष्य संवारने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की है। मुख्यमंत्री बाल भविष्य योजना, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजनाए, नानचुन शिशु सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री अमृत योजना, चिरायु योजना, बाल मधुमेह योजना, मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना, सरस्वती साइकिल योजना आदि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *