vichar
Dharm

आज का सुविचार

सुविचार:- कोई कितना भी बड़ा, ज्ञानी, समझदार ,पवित्र, चरित्रवान, सुन्दर या अच्छा क्यों न हो जब वह अपने माँ-बाप के समक्ष जाता है तब उसे एहसास होता है कि उससे भी सर्वोत्तम उसके माता-पिता हैं ।

शिक्षा:- माता-पिता से श्रेष्ठ कोई भी नहीं, दुःख मत होने देना उन्हें । जय माँ,संकर्षण शरण (गुरु जी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *