Chhattisgarh Raipur

वन शहीद दिवस के अवसर पर वन मंत्री ने शहीदों को दी श्रद्धांजली

रायपुर। प्रदेश के वन, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री महेश गागड़ा ने आज वन शहीद वाटिका, राजीव स्मृति वन में वन एवं वन्य प्राणियों के रक्षा करते हुए शहादत को प्राप्त होने वाले शहीद वन कर्मियों को श्रद्धांजली दी। 2 मिनट का मौन रखा ।

11 सितम्बर वन शहीद दिवस उन वन कर्मियों के याद में मनाया जाता है जिन्होने वनों एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा संबंधी अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए प्राणों की आहुति दी थी।

विदित हो कि 1730 ई. में 360 से ज्यादा बिशनोई, खिजरोली में मारे गये थे, जो अब राजस्थान में है। बिशनोई जाति के लोगों को खेजड़ी के वृक्ष काटने के विरोध के फलस्वरुप अपने प्राणों का बलिदान देना पड़ा था। खेजड़ी वृक्ष का राजस्थान में बहुत महत्व है और इसे पेड़ों का राजा माना जाता है। वनों की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीद बिशनोई समाज के लोगों की स्मृति में यह दिवस वन शहीद दिवस के रुप में मनाया जाता है।

मंत्री ने आज वन शहीद दिवस के अवसर पर राजीव स्मृति वन में वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को वनों एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा संबंधी अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी क्षमता के साथ करने एवं वनों, वन्य प्राणियों एवं वनवासियों के विकास संरक्षण एवं संवर्धन हेतु समाज में जनजागृति लाने बाबत् शपथ दिलाया।

कार्यक्रम मेें प्रधान मुख्य संरक्षक आर.के. टाम्टा सहित वन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *