Chhattisgarh India

यह कैसी परंपरा,यहाँ महिलाएं नहीं पहनती साड़ी में ब्लाउज

आदिवासी महिलाएं

रायपुर: दुनिया में शायद ही कोई क्षेत्र हो जहां औरतों ने अपने हुनर से पहचान न बनाई हो लेकिन इसके बावजूद भी देश में कहीं न कहीं महिलाएं अजीब रस्में और रीति-रिवाज निभा रही है। आज हम आपको ऐसे ही एक गांव के बारे में बताने जा रहें है जहां पर औरतें रीति-रिवाज के नाम पर ब्लाउज फ्री साड़ी पहनती है।

छत्तीसगढ़ के एक आदिवासी इलाके में अंचलों में काम करती महिलाएं साड़ी के साथ ब्लाउज नहीं पहनती। यहां की महिलाएं आज तक इस परंपरा का पालन कर रहीं है। हांलाकि कुछ महिलाओं ने समय साथ साड़ी के साथ ब्लाउज पहनना शुरू कर दिया लेकिन फिर भी कुछ महिलाएं आज तक एक प्रथा का पालन कर रहीं है।

यहां की महिलाएं करीब एक हजार साल से इस पंरपरा को निभा रहीं है। यहां की महिलाओं का कहना कि साड़ी पर ब्लाउज न पहनने से उन्हें खेतों में काम करते समय आसानी होती है। उनका कहना कि इससे उन्हें ज्यादा बोझ उठाने में भी आसानी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *