ग्राम पंचायत रानी तालाब का मामला, कोरा प्रस्ताव पंजी में बिना सोचे सचिव करता है हस्ताक्षर

सरपंच पति ने रात को पंचायत भवन खोलकर फर्जी प्रस्ताव करवाया तैयार

पिछले पंचवर्षीय 2017 में भी पकड़ाया था फर्जी पंचायत प्रस्ताव का मामला

उपसरपंच ने सचिव सरपंच पति पर लगाया आरोप 14 वें वित्त की राशि को हड़पने किया जा खेल

छुरिया– पूरा देश जहां कोरोना महामारी से लड़ रहा है जनता अपने घरों में बंद है लाकडाउन में नहीं खुल रहे हैं पंचायत भवन जिसे आधी रात को खोल कर फर्जी प्रस्ताव तैयार कर 14 वें वित्त की राशि हड़पने के चक्कर में है सरपंच पति ऐसा ही मामला छुरिया विकासखंड के ग्राम पंचायत रानीतलाब में आया है जहां पर बिना पंचों की जानकारी के सरपंच पति मोतीलाल बांधे ने पंचायत चपरासी रवि कुमार खुटे को लेकर रात 8 बजे पंचायत भवन को खोलकर चपरासी से ग्राम पंचायत के प्रस्ताव पंजी को भरकर राशि की दुरुपयोग करने के फिराक में थे जिसे ग्राम पंचायत रानीतलाब के उपसरपंच राम कुमार नेताम ने पकड़ा है बहुत ही ताज्जुब की बात है कि सचिव सिन्हा ने पंचायत के कोरा पंचायत प्रस्ताव में हस्ताक्षर कर छोड़ा था वह भी तीन प्रस्ताव में। उपसरपंच ने बताया कि सचिव को फोन कर पुछा तो गोल-मटोल जवाब दिया वहीं कोरा पंचायत प्रस्ताव में चपरासी भी बिना डर भय के निसंकोच सचिव की तरह तीनों प्रस्ताव को भर दिया गया। ग्राम पंचायत के 14 वें वित्त की राशि का उपयोग नाली निर्माण ग्राम पंचायत रानीतलाब के आश्रित ग्राम कुबराडीह और सड़क बंजारी के लिए एवं रानीतालाब में बने नाली को ढकने के नाम पर करने के फिराक में थे। जिससे आप अंदाजा लगा सकते हो कि इस तरह मिलीभगत से और क्या-क्या कर सकते होंगे। इससे पहले भी पिछले पंचवर्षीय के 2017 में जमीन मामला में बिना पंचों की जानकारी के सरपंच/ सचिव ने फर्जी प्रस्ताव दिया था जिसमें जांच उपरांत सचिव को निलंबित किया गया था जिस समय महिला सरपंच कौशिल्या बांधे ही रही। अभी ग्राम पंचायत में ग्रामसभा है ना ही कोई मुख्यालय खुला है फिर भी सचिव, सरपंच पति मिलकर बिना पंचों की जानकारी के फर्जी प्रस्ताव तैयार कर रात के अंधेरे में। जबकि नियंता सरपंच पति सरपंच को लेकर दिन में पंचायत भवन में आकर ग्रामसभा लेकर प्रस्ताव तैयार करवाना चाहिए था वही ग्रामीणों ने बताया कि सरपंच ने पंचायत चुनाव के दौरान चुनावी घोषणा पत्र में ग्राम पंचायत रानीतलाब में बने नाली को जीत के बाद ढक्कन लगाने की घोषणा किया था। तो क्या स्वयं के किये घोषणा को पूरा करने शासन के राशि का दुरुपयोग उचित है फिलहाल सभी शासकीय मुख्यालय कोरोना महमारी के चलते बंद है उपसरपंच ने छुरिया जनपद सीईओ को फोन के माध्यम से अवगत कराने की बात कही है देखना है इस तरह की लापरवाही पर पंचायत विभाग क्या कठोर कार्यवाही करता है।

राम कुमार नेताम उपसरपंच रानीतलाब– रात में खाना खाकर पंचायत भवन की तरफ ठहल रहा था तो देखा कि पंचायत भवन का दरवाजा खुला है लाईट जल रहा है अंदर जाकर देखा तो सचिव के कुर्सी पर सरपंच पति मोती बांधे बैठा था और चपरासी रवि खुटेल सचिव के द्वारा कोरा प्रस्ताव पंजी में हस्ताक्षर कर छोड़ा था जिसमें चपरासी के द्वारा फर्जी तरीके से लिखा जा रहा था जिसकी फोन पर छुरिया जनपद सीईओ सर को अवगत कराया हूं ‌। इस प्रकार की फर्जी कार्य करने वालों के ऊपर उचित कठोर कार्यवाही होना चाहिए।

रवि कुमार खुटेल चपरासी ग्राम पंचायत रानीतलाब– मुझे सचिव ने फोनकर कहां कि तीन पंचायत प्रस्ताव में हस्ताक्षर कर दिया हूं जो सरपंच पति कहे उसके हिसाब से लिखकर दे देना जिस पर मैं हस्ताक्षर हुए कोरा पंचायत प्रस्ताव में सचिव के कहने पर लिखा हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here