आरंग 22 अक्टूबर chhattitishgarh.co सुरक्षा गार्डों को बंधक बनाकर शराब दुकान से 10 लाख रुपए लूट के मामले में पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दो महीने के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को हिरासत में लिया है। जिसका पर्दाफाश आज देर शाम तक कर सकती है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इनके पास से लूट का पैसा भी बरामद किया गया है। घटना में शामिल सभी आरोपित गिरफ्तार हो गए हैं।

बता दें कि घटना आरंग थाना क्षेत्र के कुल्लू गांव स्थित शराब दुकान में 12 अगस्त की है। जहां तड़के करीब 3-4 बजे तीन बदमाश शराब दुकान में घुस आए। उस समय दुकान की सुरक्षा में दो गार्ड अंदर ही सो रहे थे। बदमाशों ने दोनों गार्डों को जमकर पीटा और फिर बंधक बना दिया। इसके बाद दीवार में लगे लाकर को उखाड़ कर अपने साथ लेकर भाग निकले। जिसके बाद से पुलिस लगातार तलाश में जुटी थी।

घटना में सम्मिलित एक आरोपित ने कुछ दिनों पहले खुदकुशी कर ली थी। इस घटना का मुख्य मास्टरमाइंड वियज मनहरे पहले ही महासमुंद पुलिस के हत्थे चढ़ चुका था। उसने इससे पहले महासमुंद में भी शराब भट्ठी में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। उसके अलावा विनोद डहरिया, देवभूषण पारधी और राजेश जांगड़े को आरंग पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं घटना के पांचवे आरोपित अग्रभूषण ने कुछ दिनों पहले खुदकुशी कर ली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here