MANNU CHANDEL 22 अक्टूबर chhattisgarh .co| कवर्धा-धर्मनगरी कवर्धा में परंपरा व आस्था और जनमानस की मांग को देखते हुए आखिरकार जिला प्रशासन ने खप्पर निकालने की अनुमति दे ही दी। ज्ञात हो कि खप्पर निकालने की परंपरा को लेकर सबसे पहले 11 अक्टूबर को chhattisgarh.co ने जनमानस की बात मीडिया में ध्यानाकर्षण किया था जिसको संज्ञान में लेते हुए विभिन्न संगठनों व जनप्रतिनिधियों ने परम्परा कायम रखने जिलाधीश रमेश कुमार शर्मा से बैठक रख सुझाव दिए थे।उन्होंने धार्मिक आस्था को देखते व लोगो की बातों को गम्भीरता से लेते हुए अष्टमी के दिन रात्रि 8 बजे से सुबह 7 बजे तक धारा 144 लगाने की आदेश दिया.

यहां बताना लाजमी होगा कि अष्टमी के मध्यरात्री देवी स्वरूप खप्पर के नगर भ्रमण के दौरान लगभग एक लाख की भीड़ शहर में जुट जाती है जिसमें जिलेवासियों के अलावा विभिन्न शहरों से आए श्रद्धालु दर्शन के लिए कवर्धा आते हैं कोरोना के संक्रमण को देखते हुए ,ताकि भीड़ ना हो इसलिए माननीय जिला महोदय ने पुरातन पंरपरा को कायम रखने धारा 144 लागू की है

पढ़िए आदेश….

कवर्धा शहर में नवरात्रि में अष्टमी के अर्द्धरात्रि को माँ परमेश्वरी मंदिर , चण्डी मंदिर एवं दंतेश्वरी मंदिर से ” खप्पर ‘ निकालने की परंपरा है , जिसमें शहर एवं शहर के आस – पास के ग्रामीण क्षेत्रों से बहुत अधिक संख्या में जन – मानस कवर्धा शहर में एकत्रित होते है । कवर्धा शहर के अंदर अत्यधिक संख्या में जन – मानस के एकत्रित होने से कवर्धा शहर में कोरोना संक्रमण का खतरा संभावित है । अतः कोरोना वायरस ( कोविड -19 ) के रोकथाम के प्रयोजनार्थ दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए मैं रमेश कुमार शर्मा , जिला दण्डाधिकारी , कबीरधाम , नगर पालिका परिषद , कवर्धा के सीमा क्षेत्र में दिनांक 24 अक्टूबर 2020 की रात्रि 08:00 बजे से दिनांक 25 अक्टूबर 2020 प्रातः 07:00 बजे तक जिला प्रशासन से अनुमति प्राप्त / आपातिक स्थिति के व्यक्तियों को छोड़कर अन्य व्यक्तियों का नगर पालिका परिषद , कवर्धा की सीमा क्षेत्र में प्रवेश , सड़कों पर आवाजाही / उपस्थिति तथा घरों से बाहर निकलना पूर्णतः प्रतिबंधित होने का आदेश पारित करता हूं । उपरोक्त आदेश एवं दिशा – निर्देशों के उल्लंघन करते हुए पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति आपदा प्रबंधन अधिनियम , 2005 की धारा 51 से 60 , भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 तथा अन्य सुसंगत विधिक प्रावधानों जैसे लागू हों के अंतर्गत कार्यवाही के भागी होंगे । यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here