.
नई दिल्ली 26 अक्टूबर chhattisgarh.co| भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा है कि भारत अपनी ज़मीन पर तो लड़ेगा ही, साथ ही उस देश की ज़मीन पर भी लड़ेगा जो देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा होगा.अंग्रेज़ी अख़बार द टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक डोभाल ने कहा है कि भारत ने कभी भी किसी पर पहले आक्रमण नहीं किया है.

लेकिन नई रणनीतिक सोच ये कहती है कि सुरक्षा ख़तरों को कम करने के लिए शायद हमें पहले कार्रवाई करनी थी.उन्होंने कहा, ”ये ज़रूरी नहीं है कि हम वहीं लड़ें जहां आप चाहते हैं, भारत युद्ध को वहां ले जाएगा जहां से ख़तरा पनपता है.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक सेना की चिनार कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर तनाव के दौर से आगे बढ़ गया है.भारत सरकार ने बीते साल अगस्त में जम्मू-कश्मीर का विशेष संवैधानिक दर्जा समाप्त कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बाँट दिया था.

बीएस राजू ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ”हमने पाकिस्तान से घुसपैठ बहुत हद तक ख़त्म कर दी है. अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं और तकनीक का इस्तेमाल बढ़ा है. भारतीय सेना अब एलओसी पर निगरानी के लिए ड्रोन विमानों का इस्तेमाल भी कर रही है. ”

उन्होंने कहा कि अभी उत्तर और दक्षिण कश्मीर में मिलाकर कुल 200 सक्रिय चरमपंथी होंगे.सेना के आँकड़ों के मुताबिक अभी सक्रिय 207 चरमपंथियों में से 117 स्थानीय हैं जबकि 90 पाकिस्तान से आए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here