सारंगढ़ 4 दिसम्बर chhattisgarh.co। अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर से सम्बन्ध NSS इकाई कोसीर के कार्यक्रम अधिकारी  राजकुमार जांगड़े के एवम स्वयं सेवकों के माध्यम से किसानों द्वारा पराली को नही जलाने हेतु अपील किया है । और कहा है कि पराली जलाने से पर्यावरण प्रदूषण होता है छोटे – छोटे जीव जंतु भी आग के चपेट में आकर मर जाते है । खेतो के मेड़ो पर पौधे लगे रहते है ओ भी आग से झुलस जाते है। इस तरह से हम लोगो के लिए पराली को जलाना नुकसान दायक है। राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा सभी किसान एवं सरपंच, सचिव को भी निवेदन करते है कि पराली को गोठान तक पहुचाने में सहयोग प्रदान करें। ताकि गोठान में रहने वाले मवेशियों को भोजन प्राप्त हो सके । छ. ग. सासन के महत्व काँक्षी योजना नारवा, गरुवा , घुरूवा , बाड़ी में हम सभी सहयोग प्रदान करे ।

पर्यावरण को स्वच्छ और  सुंदर रखने से बीमारी नही होगा ।राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा आदर्श गौठान कोसीर को स्वयं के खर्च से दो ट्रैक्टर पैरा दान किया गया ।जिसमें कार्यक्रम अधिकारी राजकुमार जांगड़े स्वयंसेवक अभिषेक जोल्हे अपूर्व चंद्रा रोशन सुमन केशव टंडन सनी जांगड़े शामिल थे।कोसीर के सरपंच श्री लाभोराम लहरें राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी एवं स्वयंसेवकों को बधाई देते हुए कहा -आपका एनएसएस इकाई छत्तीसगढ़ शासन के महत्वकांक्षी योजना नरवा गरवा घुरवा बारी के तहत काम कर रहा है। जो किसान के लिए प्रेरणा बनेगा इस कार्य को देखकर किसान भी पैरा दान करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here